नई दिल्ली. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एडिलेड में होने वाला पहला टेस्ट सिर पर है. लेकिन उससे पहले टीम इंडिया के मिडिल ऑर्डर बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा ने एक बड़ा बयान दे दिया है. ये बयान उन्होंने टेस्ट सीरीज से पहले ऑस्ट्रेलियाई टीम को चेताते हुए कहा है, जो ये समझ रही है कि भारतीय टीम का ओवर करने के लिए उन्हें सिर्फ विराट कोहली का विकेट निकालना है.

यूनिट में बल्लेबाजी करती है टीम इंडिया

ऑस्ट्रेलिया में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पुजारा ने कहा, ” हम एक टीम हैं और टीम की तरह खेलते हैं. किसी एक के भरोसे रहने के बजाए हम यूनिट में बल्लेबाजी करना पसंद करते हैं. भारतीय टीम के सभी बल्लेबाज अनुभवी हैं और मैदान पर अपना बेस्ट देने उतरते हैं. ”

‘रन बनाने के लिए सिर्फ विराट नहीं’

टेस्ट क्रिकेट में करीब 50 (49.54) की औसत रखने वाले बल्लेबाज पुजारा के मुताबिक, ” रन बनाने के लिए भारतीय टीम सिर्फ विराट कोहली पर आश्रित नहीं है बल्कि टीम के हर बल्लेबाज का इसमें अहम रोल है.” ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज से पहले टीम के बाकी बल्लेबाजों की तुलना में विराट कोहली के नाम की चर्चा ज्यादा हो रही है. जब पुजारा से सवाल किया गया कि इसका कितना दबाव बाकी बल्लेबाजों पर होता है तो उन्होंने कहा, “मुझे नहीं पता इसका ज्यादा दबाव होता है या कम. एक बल्लेबाज के तौर पर हमारा काम सिर्फ मैदान पर जाकर बिना कोई एक्सट्रा प्रेशर लिए रन बनाना है.”

ऑस्ट्रेलिया में शतक ठोको पुजारा

टेस्ट में पुजारा का ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ औसत 55.05 का है, लेकिन ऑस्ट्रेलिया में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ये टेस्ट औसत घटकर केवल 33.50 का रह जाता है. यही नहीं लगभग सभी टेस्ट नेशंस की सरजमीं पर शतक ठोक चुके पुजारा का ऑस्ट्रेलियाई धरती पर अब तक एक भी शतक नहीं है. ऐसे में उनकी कोशिश मौजूदा दौरे पर तीन बातों पर खरे उतरने की होगी. पहली, ऑस्ट्रेलिया में शतक ठोकना, दूसरी, रन बनाकर टेस्ट बल्लेबाजी के औसत को दुरुस्त करना और तीसरा, ऑस्ट्रेलिया को ये बताना कि भारतीय टीम बल्लेबाजी में सिर्फ विराट भरोसे नहीं बल्कि उसके बाकी बल्लेबाज भी रन बनाने में सक्षम हैं. पुजारा अगर इसकी शुरुआत एडिलेड टेस्ट से ही करते हैं तो शानदार रहेगा.