नई दिल्ली : किसी की तारीफ करने में कंजूसी के लिए मशहूर ऑस्ट्रेलिया के महान क्रिकेटर इयान चैपल ने मौजूदा सीरीज में रनों का अंबार लगाने वाले भारतीय क्रिकेटर चेतेश्वर पुजारा को विराट कोहली के ‘साम्राज्य’ का ‘सबसे अनमोल रत्न’ करार दिया. पुजारा ने मौजूदा सीरीज में तीन शतकीय पारियां खेली हैं जिसने भारत का प्रभुत्व कायम करने में अहम भूमिका निभाई है. चैपल ने एक वेबसाइट के लिए लिखे कॉलम में कहा, ‘‘पुजारा ने अकेले दम पर ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों को थकाने के साथ टीम के खिलाड़ियों को उनके खिलाफ आक्रामक होने का मौका दिया.’’ Also Read - IND vs AUS 1st T20: वनडे सीरीज में मिली हार का हिसाब टी20 में बराबर करना चाहेगी टीम इंडिया

Also Read - VVS Laxman ने Virat Kohli की तारीफ में पढ़े कसीदे, बोले-तब मुझे लगा था कि वह...

भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया में पहली बार सीरीज जीतने के करीब है और पूर्व कप्तान ने पुजारा की तारीफ की. उन्होंने कहा, ‘‘कोहली भारतीय क्रिकेट के बादशाह होंगे लेकिन पुजारा ने साबित किया वह उनके साम्राज्य के वफादार सहयोगी और अनमोल रत्न हैं. भारतीय टीम के लिए इस सीरीज में कई अच्छी चीजें हुई हैं जिसमें जीत के अलावा पुजारा का रक्षात्मक खेल भी शामिल है.’’ Also Read - IND vs AUS 1st T20 Live Streaming Online: जानें कब और कहां देखें भारत-ऑस्ट्रेलिया पहले टी20 की लाइव स्ट्रीमिंग और टेलीकास्ट

रोहित शर्मा ने बेटी का रखा नाम, पहली बार शेयर की ये खास फोटो

उन्होंने कहा, ‘‘सीरीज में तीन शतक लगाने के साथ ही वह अपने देश के महान खिलाड़ी सुनील गावास्कर की श्रेणी में शामिल हो गये, जिन्होंने 1977-78 में ऐसी ही उपलब्धि हासिल की थी.’’ उन्होंने कहा, ‘‘सात पारियों में 521 रन बनाने के दौरान वह 1867 मिनट तक क्रीज पर रहे और उन्होंने 1258 गेंदों का सामना किया.’’

चैपल ने कहा कि सीरीज शुरू होने से पहले घरेलू टीम का पूरा ध्यान कोहली को आउट करने पर था जिसने पुजारा का काम आसान कर दिया. उन्होंने कहा, ‘‘ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम का ध्यान विराट कोहली पर था लेकिन पुजारा ने शानदार प्रदर्शन किया. उन्होंने भारत को ऑस्ट्रेलिया में पहली बार सीरीज जीतने के अलावा शीर्ष श्रेणी के गेंदबाजी आक्रमण को पूरी तरह से हताश किया.’’

सिडनी टेस्ट: ऑस्ट्रेलिया 31 साल बाद घर में खेल रही फॉलऑन, भारत अब भी मजबूत स्थिति में

चैपल युवा भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत से भी प्रभावित नजर आये जिन्होंने चौथे टेस्ट में 159 रन की नाबाद पारी खेली. उन्होंने कहा, ‘‘ऋषभ ने बल्ले से शानदार कौशल दिखाया. उनमें अनुशासन की कमी थी लेकिन मेलबर्न टेस्ट में उनके रवैये में बदलाव आया और सिडनी में जब कोहली ने पारी घोषित की तब तक उनमें काफी सुधार हो चुका था.’’