भारत में अगले महीने आयोजित होने वाले निशानेबाजी विश्व कप से चीन सहित 6 देशों ने हटने का फैसला किया है. कोरोना वायरस के डर से इस बीमारी के केंद्र चीन है जहां इस संक्रमण से कई लोग पीड़ित हैं. आईएसएसएफ विश्व कप का आयोजन कर्णी सिंह निशानेबाजी रेंज में 15 से 26 मार्च तक किया जाना है. Also Read - Sharjah से Lucknow आ रही IndiGo flight कराची में हुई लैंड, लेकिन यात्री की नहीं बच सकी जान

विराट कोहली ने गंवाया नंबर वन का ताज, ऑस्ट्रेलिया के स्टीव स्मिथ 8वीं बार टॉप पर पहुंचे Also Read - अमेरिकी कंपनी का बड़ा दावा, 'लद्दाख में सैन्य संघर्ष के बाद चीनी हैकरों ने मुंबई में किया था ब्लैकआउट'

एनआरएआई अध्यक्ष रनिंदर सिंह ने बुधवार को संवाददाता सम्मेलन में पत्रकारों से कहा, ‘कुछ देश थे जो आ रहे थे लेकिन कोरोना वायरस के फैलने के डर से वे अपने राष्ट्र की नीतियों के अनुसार ऐसा नहीं कर सकते.’ Also Read - चीन में मोबाइल इंटरनेट उपयोगकर्ताओं की संख्या 100 करोड़ के करीब, 1 खरब 65 अरब GB डेटा हुआ इस्तेमाल

उन्होंने इन देशों की सरकारों द्वारा लगाई गई घरेलू यात्रा पर रोक का जिक्र करते हुए कहा, ‘चीन ने सही फैसला लिया है. वे अन्य लोगों को संक्रमित नहीं करना चाहते इसलिए वे यात्रा नहीं कर रहे. ताइवान, हांगकांग, मकाऊ, उत्तर कोरिया और तुर्कमेनिस्तान ने भी राष्ट्रीय नीतियों के कारण नहीं आने का फैसला किया.’

पाकिस्तानी निशानेबाज भी नहीं होंगे विश्व कप का हिस्सा

एनआरएआई प्रमुख ने यह भी सूचित किया कि पाकिस्तान के निशानेबाज भी इसमें भाग नहीं लेंगे क्योंकि उनके देश के निशानेबाज नए कोच के साथ ट्रेनिंग लेने में व्यस्त हैं.

पिछले साल विश्व कप में पाकिस्तानी निशानेबाजों को वीजा नहीं दिया गया था जिसके कारण भारत को कुछ समय के लिये अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं की मेजबानी करने से निलंबित कर दिया गया था.

उन्होंने कहा, ‘पिछली बार से इसे मत जोड़िये. पाकिस्तान कभी भी नहीं आ रहा था. उनके दो एथलीट हैं जिन्होंने ओलंपिक के लिए पिस्टल स्पर्धाओं के लिए क्वालीफाई किया है. ’

शेफाली वर्मा के साथ ओपनिंग को लेकर स्मृति मंधाना ने दिया बड़ा बयान

रनिंदर ने कहा, ‘जावेद लोधी (पाकिस्तान निशानेबाजी महासंघ के उपाध्यक्ष) ने मुझे सूचित किया कि हमारे कोच उसी समय ही उपलब्ध होंगे और हमारे निशानेबाज विश्व कप में भाग लेने के बजाय ओलंपिक स्पर्धा के लिए ट्रेनिंग करना चाहते हैं.’