जापान की महिला टेनिस खिलाड़ी नाओमी ओसाका ने रविवार को एक सेट से पिछड़ने के बाद वापसी करते हुए फाइनल में दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी एश्ले बार्टी को शिकस्त देकर चीन ओपन खिताब अपने नाम किया.

खिलाड़ी संघ चुनाव के लिए कीर्ति आजाद ने जारी किया घोषणा पत्र

जापान की दो बार की ग्रैंडस्लैम चैम्पियन ओसाका ने 110 मिनट में बार्टी को 3-6, 6-3, 6-2 से पराजित किया. यह ओसाका की लगातार दूसरी खिताबी जीत है, उन्होंने पिछले महीने अपने घरेलू पैन पैसिफिक ओपन में भी ट्रॉफी जीती थी.

यह 2019 में ओसाका के लिये तीसरा और संक्षिप्त कैरियर में पांचवां खिताब है.

हाल में ओसाका ने बदला था कोच

ओसाका ने हाल में घोषणा की थी कि वह अपने कोच जमेर्न जेनकिन्स के साथ काम नहीं करेंगी. इस तरह उन्होंने इस साल दूसरा कोच बदला. पैन पैसिफिक ओपन टूर्नमेंट की पूर्व संध्या पर 21 साल की खिलाड़ी ने घोषणा की कि वह अब कोच के साथ काम नहीं करेंगी. जनवरी में ऑस्ट्रेलियन ओपन में जीत के बाद जेनकिन्स उनकी टीम से जुड़े थे.

रोहित शर्मा बोले- मोहम्मद शमी ने ‘रिवर्स स्विंग’ की कला में महारत हासिल कर ली है

ओसाका ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी थी. उन्होंने टवीट कर कहा, ‘आप सभी को यह बताने के लिए लिख रही हूं कि मैं और जे अब एक साथ काम नहीं करेंगे.’