मंगलवार से नई दिल्ली में शुरू होने वाली एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप में भाग लेने के लिए चीन के पहलवानों को वीजा देने से मना कर दिया गया है। Also Read - 15 अगस्‍त के बाद से खुलेंगे स्‍कूल और शैक्षणिक संस्‍थान: एचआरडी मंत्री

भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) के सहसचिव विनोद तोमर ने आईएएनएस से इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि चीन के 40 सदस्य दल को एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप में भाग लेने के लिए नई दिल्ली आना था, लेकिन अब उन्हें वीजा देने से मना कर दिया गया है। Also Read - केरल में सामूहिक दुष्कर्म मामले का महिला आयोग ने लिया संज्ञान, पुलिस विभाग से मांगी रिपोर्ट

तोमर ने कहा, “उन्हें (चीन के पहलवानों को) वीजा नहीं मिला है और अब एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप में भाग लेने का उनके पास कोई मौका नहीं है।” Also Read - Kerala Elephant Death: केरल में हथिनी की मौत के मामले में एनजीटी ने लिया संज्ञान, समिति से मांगी रिपोर्ट

भारत ने कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए पिछले महीने 15 जनवरी को ही चीन के पहलवानों को वीजा जारी करना रोक दिया था। इसके बाद अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) और यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग ने पांच फरवरी को कहा था कि उन्हें उम्मीद है कि एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप में भाग लेने के लिए चीनी और पाकिस्तानी पहलवानों को वीजा जारी कर दिया जाएगा।

विराट कोहली को हुआ नुकसान, केएल राहुल-रोहित शर्मा टॉप-15 में बरकरार

डब्ल्यूएफआई के सामूहिक प्रयास के बाद छह पाकिस्तानी पहलवानों को चैंपियनशिप के लिए शनिवार को ही वीजा मुहैया कराया गया था, जबकि चीनी पहलवानों को सोमवार तक का इंतजार करने को कहा गया था। तोमर ने कहा, “स्वास्थ्य महत्वपूर्ण है और यह वायरस बेहद खतरनाक है। इससे कई लोगों को खतरा है, क्योंकि यह अंतर्राष्ट्रीय मामला है।”

कोराना वायरस के कारण चीन में कई सारे खेल टूर्नामेंट स्थगित या फिर स्थानांतरित किए जा चुके हैं। कोराना वायरस के कारण चीन में अब तक करीब 1600 लोगों की मौत हो चुकी है।