नई दिल्ली : ऑस्ट्रेलिया के तूफानी बल्लेबाज क्रिस लिन का मानना है कि उनके अंदर काफी काबिलियत है, जिसका इस्तेमाल कर वह अपने आप को साबित करना चाहते हैं. ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट के मेट्रिकोन स्टेडियम में शनिवार रात दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ एक मात्र टी-20 मैच खेलना है. लिन के लिए यह मैच अपने आप को साबित करने का मौका है. लिन ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज में अच्छा प्रदर्शन नहीं किया था. इससे पहले वह संयुक्त अरब अमिरात में पाकिस्तान के खिलाफ खेली गई टी-20 सीरीज में भी विफल रहे थे.

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की वेबसाइट ने लिन के हवाले से लिखा है, “व्यक्तिगत तौर पर मैं मानता हूं कि मैं इस समय अच्छी फॉर्म में हूं. मैं गेंद को अच्छे से मार रहा हूं. लेकिन यह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट है, विश्व में सर्वश्रेष्ठ और अगर आप यहां अच्छा प्रदर्शन नहीं करते हो तो आपको बाहर कर दिया जाएगा और दक्षिण अफ्रीका वैसे ही अपने खेल के शीर्ष पर है.”

IPL 2019 से पहले 71 खिलाड़ी हुए बाहर, जानें किस टीम ने किसे दी जगह

लिन ने कहा, “मैं घरेलू और अंतराष्ट्रीय क्रिकेट, दोनों जगह अपने आप को साबित करना चाहता हूं. आप जब भी मैदान पर उतरते हैं तो आप अपना सर्वश्रेष्ठ देना चाहते हैं. मुझे अभी भी लगता है कि मेरे अंतर अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को देने के लिए काफी कुछ है.”

डुप्लेसिस ने ऑस्ट्रेलियाई टीम को दी सलाह, कहा – कोहली को शांत रखना है तो चुप रहना

बता दें कि ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी क्रिस लिन को भारत के खिलाफ होने वाली टी-20 सीरीज के लिए भी टीम में शामिल किया गया है. लिन ने अब तक सिर्फ 14 टी-20 इंटरनेशनल पारियां खेली हैं, जिनमें 214 रन बनाए हैं. 28 वर्षीय लिन ने 4 वनडे मैच भी खेले हैं. इसके अलावा वो घरेलू मैचों में शानदार प्रदर्शन कर चुके हैं. उन्होंने आईपीएल में भी खेलने का मौका मिल चुका है.