टीम इंडिया (Team India) के मुख्य कोच राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) ने सोमवार को संकेत दिए कि टीम मैनेजमेंट दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए टीम चुनने से पहले कुछ कड़े फैसले ले सकता है लेकिन उन्होंने खिलाड़ियों के साथ स्पष्ट संवाद पर जोर दिया।Also Read - Rohit Sharma होंगे भारत के नए टेस्ट कप्तान, जल्द होगा ऐलान: रिपोर्ट

सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा (Rohit Sharma) को न्यूजीलैंड के खिलाफ पूरी टेस्ट सीरीज के लिए आराम दिया गया जबकि कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) पहले मैच में नहीं खेले थे। रवि शास्त्री (Ravi Shastri) से कमान संभालने के बाद द्रविड़ की कोच के रूप में ये पहली टेस्ट सीरीज थी जिसमें मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) और श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer) ने एक-एक शतक लगाया। Also Read - BCCI चाहता था अपना 100वां टेस्ट बतौर भारतीय कप्तान खेलें Virat Kohli, लेकिन नहीं मानें विराट

अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) और चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) पर दक्षिण अफ्रीका दौरे से पहले टीम में अपनी जगह बचाये रखने का दबाव है और ऐसे में द्रविड़ की टिप्पणी अहम है। Also Read - Virat Kohli ने भले कप्तानी छोड़ दी लेकिन वह हमेशा हमारे दल के नेता होंगे: Jasprit Bumrah

द्रविड़ ने दूसरे टेस्ट क्रिकेट में 372 रन की रिकार्ड जीत के बाद कहा, ‘‘युवा खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं और चयन को लेकर ये अच्छा सिरदर्द है। प्रत्येक अच्छा प्रदर्शन करना चाहता है और हर कोई एक दूसरे के लिए कड़ी चुनौती पेश कर रहा है। मुझे उम्मीद है कि हमारा ये सिरदर्द और बढ़ेगा और हमें कुछ कड़े फैसले लेने पड़ सकते हैं लेकिन जब तक हमारा स्पष्ट संवाद रहता है और हम खिलाड़ियों को समझाते हैं कि ऐसा क्यों हुआ तब तक कोई समस्या नहीं है।’’

बाएं हाथ के स्पिनर अक्षर पटेल ने गेंद और बल्ले से अच्छा प्रदर्शन किया। उन्होंने पहले टेस्ट मैच की पहली पारी में पांच विकेट लिये और दूसरे टेस्ट मैच की दूसरी पारी में आक्रामक अंदाज में बल्लेबाजी की। जयंत यादव ने दूसरे टेस्ट मैच में पांच विकेट लिये जिसमें दूसरी पारी के चार विकेट शामिल हैं।