गोल्ड कोस्ट (आस्ट्रेलिया): भारत की महिला भारोत्तोलाक खिलाड़ी संजिता चानू ने 21वें राष्ट्रमंडल खेलों के दूसरे दिन शुक्रवार को भारत को इन खेलों में दूसरा स्वर्ण पदक दिलाया. मणिपुर की संजिता ने अपने शानदार प्रदर्शन के दम पर एक तरफा प्रदर्शन किया और महिलाओं की 53 किलोग्राम भार वर्ग स्पर्धा में भारत की झोली में एक और स्वर्ण डाला. चानू ने स्नैच में 84 किलोग्राम का सर्वश्रेष्ठ भार उठाया जो गेम रिकार्ड रहा. वहीं क्लीन एंड जर्क में उन्होंने 108 किलोग्राम का सर्वश्रेष्ठ भार उठाया और कुल 192 के कुल स्कोर के साथ सोने का तमगा अपने नाम करने में सफल रहीं. Also Read - डोपिंग के कारण सस्पेंड हुई थी 2 बार की Commonwealth Games गोल्ड मेडलिस्ट वेटलिफ्टर, अब शामिल होगी इस अवॉर्ड की दौड़ में

स्पर्धा का रजत पापुआ न्यू गिनी की लाउ डिका ताउ को मिला जिनका कुल स्कोर 182 रहा. कनाडा की रचेल लेब्लांग को 181 के कुल योग के साथ कांस्य से संतोष करना पड़ा. इससे पहले, खेलों के पहले दिन मीरबाई चानू ने महिलाओं की 48 किलोग्राम भारवर्ग में भारत को पहला स्वर्ण दिलाया था. Also Read - ये हैं भारत की नई स्विमिंग कोच, कई बड़े खिताब किए हैं अपने नाम, तस्वीरें देख मचल जाएगा दिल 

पदक तालिका में तीसरे स्थान पर भारत
भारत अब पदक तालिका में तीसरे स्थान पर आ गया है. उसके हिस्से दो स्वर्ण और एक रजत पदक हैं. यह तीनों पदक भारत को भारोत्तोलन में मिले हैं. पहले दिन गुरुराज ने भारत को पुरुषों की 56 किलोग्राम भारवर्ग स्पर्धा में रजत पदक दिलाया था. सचिता ने ग्लास्गो में 2014 में खेले गए राष्ट्रमंडल खेलों में भी भारत को स्वर्ण दिलाया था, लेकिन तब वह 48 किलोग्राम भारवर्ग में पीला पदक जीतने में सफल रही थीं.

संचिता ने स्नैच के तीनों प्रयासों में सफलता हासिल की. उन्होंने पहले प्रयास में 81, दूसरे प्रयास में 83 और तीसरे प्रयास में 84 किलोग्राम का भार उठाया जो गेम रिकार्ड रहा. क्लीन एंड जर्क में भारतीय खिलाड़ी ने पहले प्रयास में 104 किलोग्राम का भार उठाया. दूसरे प्रयास में वह 108 किलोग्राम का भार उठाने में सफल रहीं. आखिरी प्रयास में वह 112 किलोग्राम का भार उठाने के प्रयास में थीं जो असफल रहा.

इससे पहले, खेलों के पहले दिन मीरबाई चानू ने महिलाओं की 48 किलोग्राम भार वर्ग में भारत को पहला स्वर्ण दिलाया था. चानू ने गुरुवार को 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स में उम्मीद के मुताबिक परफॉर्म किया और भारत की झोली पहला गोल्ड मेडल डाला. मीराबाई ने महिलाओं की 48 किलोग्राम कैटेगरी में देश के लिए पहला गोल्ड मेडल जीता है. अब तक भारत ने तीन मेडल जीता है.