नई दिल्ली. FIFA वर्ल्ड कप में मुकाबला था इंग्लैंड और ट्यूनिशिया के बीच. इस मुकाबले में दोनों टीमों के बीच जबरदस्त टक्कर देखने को मिली. एक वक्त तो ऐसा लग रहा था कि ये मुकाबला भी ड्रॉ पर ही खत्म हो जाएगा. लेकिन आखिरी मिनटों में गेम ने करवट ली और इंग्लैंड की जीत हुई. रूस में खेले जा रहे फुटबॉल वर्ल्ड कप के अपने ओपनिंग मैच में इंग्लैंड ने ट्यूनिशिया को 2-1 से हराया. ट्यूनिशिया पर इंग्लैंड की ये जीत उसके खिलाड़ियों की मेहनत का तो नतीजा रहा ही साथ ही इसकी एक बड़ी वजह भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली भी रहे. अब आप कहेंगे कि भला ये कैसे. तो हम आपको बताते हैं. दरअसल, इस मुकाबले से पहले विराट कोहली ने इंग्लैंड की फुटबॉल टीम के कप्तान को एक मैसेज भेजा था, माना जा रहा है कि टीम इंडिया के कप्तान के उसी मैसेज में इंग्लैंड की जीत का राज भी छिपा है और ये बात साबित भी होती है.

विराट का जीत दिलाने वाला ‘मैसेज’

अब जरा सबसे पहले आप विराट का वो मैसेज पढ़ लीजिए जो उन्होंने इंग्लैंड फुटबॉल टीम के कप्तान हेनरी केन को ट्यूनिशिया के खिलाफ मुकाबले से पहले भेजा था.

विराट ने इंग्लैंड के फुटबॉल कप्तान को किए अपने मैसेज में वर्ल्ड कप में उनके शानदार सफर की कामना की है. टीम इंडिया के कप्तान के इस शुभकामना संदेश का असर भी इंग्लैंड के पहले ही मैच में देखने को मिल गया, जहां उसने ट्यूनिशिया को तो हराया ही साथ ही इस जीत में उसके कप्तान हेनरी केन, जिन्हें विराट ने स्पेशली अपना मैसेज ट्वीट किया था, की अहम भूमिका रही.

इंग्लैंड की जीत में केन का ‘डबल’

दरअसल, ट्यूनिशिया पर इंग्लैंड की 2-1 से जीत में जो दोनों गोल किए गए वो कप्तान और टीम के स्ट्राइकर हेनरी केन के बूट से ही हुए. केन ने पहला गोल मैच के 11वें मिनट में दागा जबकि दूसरा गोल स्टॉपेज टाइम में दागकर बराबरी पर खड़े मैच को अपनी झोली में डाल लिया.

उम्मीदों पर खरा सबसे युवा कप्तान 

बता दें कि हेनरी केन इंग्लैंड फुटबॉल टीम के सबसे युवा कप्तान हैं. इंग्लिश प्रीमियर लीग के इस सीजन में 30 गोल दाग चुके केन को वर्ल्ड कप से ठीक पहले ये जिम्मेदारी मिली है. ट्यूनिशिया के खिलाफ मुकाबले में उनके प्रदर्शन को देखकर साफ है कि वो अपनी जिम्मेदारियों पर खरे भी उतरेंगे.