पूर्व दिग्गज सचिन तेंदुलकर ने एक बार फिर कोरोना वायरस से लड़ाई में सरकार की मदद करने के लिए लोगों से घर से बाहर ना निकलने की अपील की। हालांकि इस पूर्व क्रिकेटर ने ये भी कहा कि लोग इस 21 दिन के लॉकडाउन को छुट्टियों की तरह ना देखें। Also Read - Uttarakhand में कोरोना का कहर जारी, 67 हेल्‍थ केयर वर्कर्स कोविड-19 से पॉजिटिव निकले

सचिन ने ट्विटर पर एक वीडियो में कहा, “नमस्ते, हमारी सरकार ने हम सभी से ये विनती की है कि अगले 21 दिनों तक हम सब अपने घरों से ना निकलें। फिर भी बहुत लोग इस निर्देश का पालन नहीं कर रहे हैं। इस मुश्किल समय में हम सबका ये कर्तव्य है कि हम घरों में रहें और ये समय अपने परिवार के साथ बिताएं और कोरोना वायरस का खात्मा करें।” Also Read - Corona Spike in India: कोरोना के प्रचंड कहर में टूटे रिकॉर्ड, COVID19 के 2.34 लाख से ज्‍यादा नए केस, 24 घंटे में 1341 मौतें

उन्होंने कहा, “हर किसी को लगता है कि उन्हें बाहर जाना चाहिए और दोस्तों से मिलना चाहिए। लेकिन, ये सही समय नहीं है। अभी ये देश के लिए बहुत हानिकारक है। याद रखिए, ये दिन छुट्टियों के दिन नहीं हैं।” Also Read - Corona Cases In UP: महाराष्ट्र के बाद सबसे ज्यादा यूपी में मिले केस, 103 मरीजों की मौत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए पूरे देश में 21 दिन तक लॉकडाउन का आदेश दिया है।

दिग्गज क्रिकेटर ने कहा, “हम सब अपने घरों में रहें। डॉक्टर्स, नर्सेस और हॉस्पिटल स्टाफ जो हमारे लिए लड़ रहे हैं, उनके लिए हम कम से कम इतना तो कर ही सकते हैं और उनकी कही बातों को मान सकते हैं।”

सचिन ने कहा, “मैं और मेरा परिवार पिछले 10 दिनों से अपने दोस्तों से नहीं मिला है और हम अगले 21 दिन तक ऐसा ही करने वाले हैं। हम खुद और अपने परिवार को केवल घर में रहकर ही बचा सकते हैं और कोरोना को फैलने से रोकने में मदद कर सकते है।”