नई दिल्ली: पूरा देश इस वक़्त कोरोना वायरस के खिलाफ जंग लड़ रहा है. ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को सहायता एवं आपात स्थिति राहत कोष के गठन की घोषणा की जहां लोग कोरोना वायरस के खिलाफ सरकार की लड़ाई में मदद एवं योगदान दे सकते हैं. इस घोषणा के बाद कई बड़ी हस्तियों ने मदद के हाथ भी बढ़ाए. Also Read - Mask Kills Coronavirus: पुणे में बनकर तैयार हुआ कोरोना वायरस को खत्म करने वाला मास्क, जानिए कैसे करता है काम

इसी सिलसिले में खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने देश को कोरोनावायरस प्रकोप के खिलाफ लड़ने के लिए एक करोड़ रुपये का दान दिया है. वायरस के प्रकोप से बचाव के लिए विभिन्न खेलों से जुड़ी हस्तियों ने भी दान किया है. रिजिजू ने ट्विटर पर लिखा, “मैं अब राशि जमा कर रहा हूं. माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने यह आह्वान किया है कि इस महामारी को देखते हुए भाजपा के सभी सांसद अपनी सांसद निधि से 1,00,00,000 (एक करोड़) की निधि प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष में देंगे.” Also Read - जल्द आएगी बच्चों के लिए कोरोना वैक्सीन, AIIMS में कल से शुरू होगा कोवैक्सीन के परीक्षण के लिए नामांकन

महामारी से लड़ने के लिए सभी क्षेत्रों के लोगों ने आगे आकर धनराशि दान की है. भारतीय क्रिकेटर व आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स की ओर से खेलने वाले बल्लेबाज सुरेश रैना ने भी शनिवार को कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई में 52 लाख रुपये का सहयोग किया. वह पीएम-केयर फंड में 31 लाख रुपये देंगे, जबकि उत्तर प्रदेश के सीएम आपदा राहत कोष को 21 लाख रुपये सौंपेंगे. Also Read - Tamil Nadu Lockdown Unlock: तमिलनाडु के 27 जिलेे रि-ओपन हुए, पार्क, सैलून, ब्यूटी पार्लर, स्पा और टी स्‍टाल खुले

उन्होंने इंस्टाग्राम पर अपने फॉलोअर्स को एक संदेश में अपील की कि वह घर पर ही रहें और इस महामारी से लड़ने के लिए अपना सहयोग दें. इससे पहले पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने जागरूकता वीडियो साझा करने के साथ ही महामारी से लड़ने में मदद करने के लिए 50 लाख रुपये दान करने का फैसला किया था.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोनावायरस महामारी से निपटने के लिए मंगलवार को देश में 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा की थी. उन्होंने कहा कि यह कोरोनावायरस से निर्णायक रूप से लड़ने के लिए एक आवश्यक कदम है. उन्होंने कहा कि जीवन को बचाना ही अब प्राथमिकता है, इसलिए अपने घरों में ही रहें.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर नागरिक आने वाले 21 दिनों तक पूर्ण लॉकडाउन का पालन नहीं करते हैं, तो राष्ट्र 21 साल पीछे चला जाएगा और कई परिवार तबाह हो जाएंगे.