कोरोना काल (Coronavirus) में दुनिया भर के क्रिकेट  बोर्ड ने अपने स्‍टाफ में कमी की है. बड़ी संख्‍या में लोगों को जॉब से निकाला गया है. अबतक बीसीसीआई (BCCI) जैसे अमीर बोर्ड की तरफ से ऐसा कोई कदम नहीं उठाया गया है. हालांकि बीसीसीआई सूत्रों की माने तो जल्‍द ही ऐसा किया जा सकता है. Also Read - MI vs CSK Dream11 IPL 2020: महेंद्र सिंह धोनी ने रचा इतिहास,अपनी कप्तानी में CSK को दिलाई 100वीं जीत

बीसीसीआई के एक अधिकारी ने न्‍यूज एजेंसी आईएएनएस से बातचीत के दौरान कहा, “हमने अभी तक वेतन कटौती के मुद्दे पर चर्चा नहीं की है. लेकिन हम बैठक में इस पर बात करेंगे और चर्चा करेंगे कि इन सभी चीजों का क्या प्रभाव होगा, इन सभी चीजों को ध्यान में रखते हुए हम फैसला लेंगे. हां वेतन कटौती और छंटनी की संभावना है.” Also Read - इस बार हेयर स्टाइल नहीं.. नई बियर्ड स्टाइल के साथ मैदान पर उतरे हैं एमएस धोनी, खुद देख लो तस्वीरें

इससे पहले बीसीसीआई के कोषाध्यक्ष अरुण धूमल ने संकेत दिए थे कि आईपीएल के 13वें सीजन पर काफी कुछ निर्भर है क्योंकि इसमें काफी सारा पैसा दाव पर है. Also Read - LIVE, MI vs CSK: खाली स्‍टेडियम में मैच के दौरान ये दर्शकों के शोर की आवाज कैसी ? फैन्‍स ने किया ट्रोल

अधिकारी ने कहा, “अब चूंकि आईपीएल हो रहा तो हम इस पर चर्चा करेंगे. काफी कुछ आईपीएल की सफलता पर निर्भर करता है. मुख्य प्रायोजक करार (222 करोड़), पिछले करार (वीवो 440 करोड़) से ज्यादा नहीं है. देखते हैं कि कम से कम नुकसान में किया जा सकता है.”

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी), वेस्टइंडीज क्रिकेट और न्यूजीलैंड क्रिकेट बोर्ड ने अपने खिलाड़ियों और स्टाफ के वेतन में कटौती की है.