कोरोनावायरस से संक्रंमण के मामले पूरे देश के मुकाबले महाराष्‍ट्र में सबसे तेजी से बढ़े हैं. यहां संक्रमित लोगों की संख्‍या 17 हजार से अधिक है. वहीं, एक हजार से ज्‍यादा लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. आलम यह है कि बेकाबू होती स्थिति पर नियंत्रण पाने के लिए आर्मी की मदद लेने की बात भी कही जा रही है. इसी बीच लगातार बढ़ रहे मरीजों को देखते हुए मुंबई महानगरपालिका (BMC) ने मुंबई क्रिकेट संघ (MCA) को निर्देश दिया कि वह वानखेड़े स्टेडियम की कुछ सुविधाओं को उन्हें सौप दे, जिससे इसका इस्तेमाल कोरोनावायरस महामारी से लड़ाई में किया जा सके. Also Read - क्या कोरोना की संभावित तीसरी लहर में ज्यादा प्रभावित होंगे बच्चे? जानें नए सर्वे में क्या आया सामने...

बताया जा रहा है कि बीएमसी की सहायक नगर आयुक्त चंदा जाधव ने पत्र लिख कहा, ‘‘ होटल, लॉज, क्लब, कॉलेज, प्रदर्शनी केंद्र, शयनगृह, जिमखाना, बैंक्वेट हॉल को तत्काल प्रभाव से सौंप दिया जाना चाहिए. ‘इन परिसरों का इस्तेमाल कोविड-19 के खिलाफ लड़ रहे आपातकालीन सेवाओं से जुड़े लोगों और इस महमारी के चपेट में आने वालों के लिए होगा.’’ Also Read - International Yoga Day 2021: संयुक्त राष्ट्र ने कहा, कोरोना काल में एंग्जाइटी से लड़ने के लिए फायदेमंद है योग

उन्होंने इस आदेश को ना मानने पर एमसीए के खिलाफ पुलिस कार्रवाई की चेतावनी दी. एमसीए शीर्ष परिषद के एक सदस्य ने कहा कि वायरस के प्रकोप से निपटने में अधिकारियों की मदद करने में क्रिकेट संस्था को को कोई परेशानी नहीं है. Also Read - International Yoga Day 2021: कोरोना काल में फेफड़ों को बनाएं मजबूत, करें ये 4 योगासन

एमसीए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि उन्हें शुक्रवार की सुबह पत्र मिला है. इस परिसर में मुख्य स्टेडियम के अलावा बीसीसीआई कार्यालय, एमसीए लाउंज, गरवारे क्लब हाउस शामिल हैं. एमसीए लाउंज एक बैंक्वेट हॉल है, जबकि गरवारे क्लब हाउस में 50 से अधिक कमरे के अलावा कुछ हॉल हैं.