कोविड-19 महामारी के चलते दुनिया भर में करीब 30 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है जबकि इस संक्रमण से लगभग सात लाख लोग संक्रमित है. भारत में इस समय 21 दिन का लॉकडाउन घोषित किया गया है. लोगों से लगातार घरों में रहने की अपील की जा रही है ताकि इस वायरस के चेन को तोड़ा जा सके. खिलाड़ी अपने घरों में कैद होने को मजबूर हैं. भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने लोगों से हर कीमत पर घर के अंदर रहने की अपील करते हुए रविवार को कहा कि दुनिया में अभी कोरोना वायरस ‘ट्रेसर बुलेट’ (बहुत तेज गति से निकलने वाली गोली) की तरह फैल रहा है . Also Read - क्या अंडरवर्ल्ड सरगना दाऊद इब्राहिम की कोरोना से हुई मौत?, सोशल मीडिया में अटकलों का बाजार गर्म

COVID-19: कोहली एंड कंपनी का ऑस्ट्रेलिया दौरा अधर में, ये है वजह Also Read - राजस्थान में कोरोना वायरस से संक्रमितों का आंकड़ा 10128, अब तक मृतक संख्‍या 219

इस महामारी के कारण दुनियाभर के लगभग सभी खेल आयोजन स्थगित या रद्द करना पड़ा जिसमें टोक्यो ओलंपिक भी शामिल है. इसमें दुनिया भर में खेले जाने वाले अंतरराष्ट्रीय और घरेलू क्रिकेट भी शामिल है. Also Read - कोरोना संकट के बीच अमरनाथ यात्रा 21 जुलाई से शुरू होगी, ऐसी कड़ी शर्तों के साथ 3 अगस्त तक चलेगी

COVID-19: बीसीसीआई ने पुजारा फैमिली की तरह लोगों से घरों में रहने की अपील की

भारतीय कोच ने ट्वीट किया, ‘लोग घर के अंदर रहे, यह काफी अहम चरण (समय) है. दुनियाभर में जो चीज ट्रेसर बुलेट की तरह घूम रही है वह है कोराना (कोविड-19). इसकी चपेट में आने से बचने के लिए घर में रहे.’


भारत में 1000 से ज्यादा लोग इसके संक्रमण की चपेट में आए हैं जिसमें अब तब 25 की मौत हो चुकी है. शास्त्री ने इससे पहले कहा था कि राष्ट्रीय टीम के खिलाड़ियों के लिए यह ब्रेक ‘स्वागत योग्य’ है. इससे पहले दक्षिण अफ्रीकी टीम को तीन मैचों की वनडे सीरीज भारत में बीच में ही छोड़कर स्वदेश लौटने पर मजबूर होना पड़ा है.