कोविड-19 महामारी के कारण भारत में इस समय 21 दिन का लॉकडाउन घोषित है. भारत में कोरोनावायरस के चेन को तोड़ने के लिए लोगों को घरों में रहने की अपील की जा रही है. भारत में कोरोनावायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 1600 के करीब पहुंच गई है जबकि इससे मरने वालों का आंकड़ा 40 को पार कर गया है. हॉकी की इंडिया ने कोविड-19 महामारी के खिलाफ देश की लड़ाई के लिए प्रधानमंत्री राहत कोष में 25 लाख रुपये का योगदान करने का फैसला किया. Also Read - क्या अंडरवर्ल्ड सरगना दाऊद इब्राहिम की कोरोना से हुई मौत?, सोशल मीडिया में अटकलों का बाजार गर्म

Coronavirus से खिलाफ जंग में सौरव गांगुली की एक और पहल, बेलूर मठ पहुंचकर किया ये काम Also Read - राजस्थान में कोरोना वायरस से संक्रमितों का आंकड़ा 10128, अब तक मृतक संख्‍या 219

हॉकी इंडिया के कार्यकारी बोर्ड ने यह फैसला किया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ देश की लड़ाई के लिए विशेष आपात कोष की घोषणा की है. Also Read - कोरोना संकट के बीच अमरनाथ यात्रा 21 जुलाई से शुरू होगी, ऐसी कड़ी शर्तों के साथ 3 अगस्त तक चलेगी

हॉकी इंडिया के अध्यक्ष मोहम्मद मुश्ताक अहमद ने विज्ञप्ति में कहा, ‘इस मुश्किल घड़ी में इस संकट से लड़ने के लि एकजुट होने और एक जिम्मेदार नागरिक के अपने कर्तव्यों का निर्वहन करने का समय है. हॉकी इंडिया कार्यकारी बोर्ड ने प्रधानमंत्री राहत कोष में 25 लाख रुपये के योगदान का सर्वसम्म्त फैसला किया है.’

पहलवान बजरंग पूनिया का टोक्यो ओलंपिक में टॉप-4 में वरीयता मिलना तय, वर्ल्ड रैंकिंग में दूसरे नंबर पर कायम

उन्होंने कहा, ‘हॉकी को हमेशा इस देश के लोगों का अपार प्यार और समर्थन मिलता रहा है और हम अपने देशवासियों को इस महामारी पर विजेता के रूप में देखने के लिए अपनी तरफ से जो भी कर सकते हैं वह करना चाहते हैं.’ हॉकी इंडिया से पहले देश की कई नामचीन हस्तियों ने इस नेक काम के लिए आगे हाथ बढ़ाया है.

कोविड-19 के कारण विश्व में अब तक लगभग 40 हजार से अधिक लोग अपनी जान गंवा चुके हैं जबकि 8 लाख से अधिक लोग इससे संक्रमित हैं.