कोविड-19 महामारी के कारण पिछले कुछ महीनों से खेल की लगभग सभी प्रतियोगिताएं या तो स्थगित कर दी गई हैं या उन्हें रद्द कर दिया गया है. दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेटर मार्च से अपने घरों में हैं जब कोरोना वायरस महामारी के कारण खेल बंद कर दिया गया था. Also Read - राहुल गांधी ने केंद्र सरकार से किया सवाल, पूछा- क्या अब भी भारत कोरोना के खिलाफ लड़ाई में अच्छी स्थिति में है?

दक्षिण अफ्रीका में कोरोना वायरस महामारी के बाद 27 जून को शीर्ष क्रिकेटर सेंचुरियन में मैदान पर वापसी करेंगे जो दर्शकों के बिना 3 टीमों का मैच खेलेंगे जिसका प्रसारण टीवी पर किया जाएगा. Also Read - देश में कोरोना के 28 हजार से ज्‍यादा नए केस, कल 9 लाख के पार होगा आंकड़ा

‘स्टेडियम खाली होगा’ Also Read - Coronavirus in Pune: पुणे में एक दिन में कोविड-19 के सर्वाधिक 1,088 नए मरीज आए सामने, जानें सभी जिलों का हाल

क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका (सीएसए) के कार्यवाहक मुख्य कार्यकारी जैक फाउल ने कहा है कि यह प्रस्तावति मैच चैरिटी के लिए होगा और सरकार से अनुमति मिलने पर दर्शकों के बिना ही खेला जाएगा.

बोर्ड के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर शोएब मांजरा ने कहा कि मैच के लिए कड़े प्रोटोकॉल लागू रहेंगे. उन्होंने कहा, ‘स्टेडियम बिल्कुल खाली होगा और स्टाफ में भी कम से कम लोग मौजूदा होंगे. खिलाड़ी तीन दिन पहले से जैविक सुरक्षित माहौल में रहेंगे. सेंचुरियन आने से पहले उनका टेस्ट होगा और पांच दिन बाद भी टेस्ट कराया जाएगा.’

मैदान पर वापसी को बेकरार हैं प्रोटियाज खिलाड़ी

दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ी ट्रेनिंग पर लौटने को बेकरार हैं. अगर यह मुकाबले योजना के मुताबिक खेले गए तो इससे प्रोटियाज खिलाड़ियों के लिए जुलाई और अगस्‍त में वेस्‍टइंडीज व भारत के खिलाफ सीरीज खेलने के लिए मदद मिलेगी. खेल मंत्री नाथी ठेटवा ने घोषणा की थी कि 30 मई से पेशेवर खिलाड़ी ट्रेनिंग दोबारा शुरू कर सकते हैं लेकिन एक कोर्ट निर्देश में कहा गया कि लॉकडाउन दिशानिर्देश अंसवैधानिक हैं.