नई दिल्ली: क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की गेंद से छेड़खानी के मामले में मंगलावार को दक्षिण अफ्रीका में आपात बैठक होगी जिसमें कोच कोच डेरेन लेहमन और कप्तान स्टीव स्मिथ के भविष्य का फैसला किया जाएगा. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के प्रमुख जेम्स सदरलैंड पर कड़ा फैसला करने के लिये भारी दबाव है क्योंकि ऑस्ट्रेलियाई मीडिया ने टीम संस्कृति को बदहाल करार दिया है. वह मंगलवार को जोहानिसबर्ग पहुंचेंगे जहां वह इस संस्था की आचार संहिता संबंधी समिति के प्रमुख इयान राय से मिलेंगे.Also Read - T20 World Cup 2021- हमें अपनी टीम पर पूरा भरोसा, 7-4 के कॉम्बिनेशन से उतरेंगे: Aaron Finch

Also Read - खराब फॉर्म से जूझ रहे डेविड वार्नर को मिला शेन वार्न का समर्थन; कहा- विश्व कप मैच में जरूर खिलाया जाय

वॉर्नर के हैदराबाद की कप्तानी छोड़ते ही IPL इतिहास में पहली बार बनेगा ये खास रिकॉर्ड Also Read - IPL में David Warner के साथ सही व्यवहार नहीं किया गया, वह वर्ल्ड कप में चमकेंगे: Brett Lee

सदरलैंड और राय कड़े फैसले कर सकते हैं और रिपोर्टों के अनुसार वे स्मिथ और उप कप्तान डेविड वॉर्नर पर 12 महीने का प्रतिबंध लगाकर उन्हें स्वदेश भेज सकते हैं. स्मिथ गेंद से छेड़खानी की योजना बनाने में शामिल होने के कारण पहले ही एक मैच का प्रतिबंध झेल रहे हैं जो उन पर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने लगाया है. स्मिथ के साथी कैमरन बैनक्रॉफ्ट को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच के दौरान गेंद से छेड़छाड़ करते हुए पाया गया था. इसका मतलब है कि वह जोहानिसबर्ग में शुक्रवार से शुरू होने वाले चौथे और अंतिम टेस्ट मैच में नहीं खेल पाएंगे.

सहवाग ने की बड़ी भविष्यवाणी, ऐसा करने पर वर्ल्डकप जीतेगी टीम इंडिया

लीमन इस विवाद के शुरू होने के बाद से ही चुप्पी साधे हुए हैं लेकिन ब्रिटिश टेलीग्राफ के अनुसार उन्होंने अपना पद छोड़ने का फैसला कर लिया है जो कि तुरंत प्रभाव से लागू होगा. इसका मतलब है कि वह भी इस टेस्ट मैच का हिस्सा नहीं होंगे. लीमन 2013 में टीम के कोच बने थे जब मिकी ऑर्थर को बर्खास्त किया गया था. जस्टिन लैंगर को उनका स्थान लेने के लिये मजबूत दावेदार माना जा रहा है हालांकि रिकी पोंटिंग का नाम भी चर्चा में है.

विराट से अपने रिश्ते को लेकर क्यों बोले नेहरा जी- ‘मतभेद तो मियां-बीबी में भी होते हैं’

सदरलैंड ने क्रिकेट प्रेमियों को भेजे ईमेल में कहा, ‘‘हम बुधवार की सुबह तक ऑस्ट्रेलियाई जनता को जांच और परिणामों से अवगत कराने की स्थिति में रहेंगे. हम इस स्थिति पर सभी के सरोकारों को समझते हैं तथा हम इसमें शामिल संबंधित मुद्दों से अच्छी तरह से निबटने के लिये उचित प्रक्रिया का पालन कर रहे हैं.’’ ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री मैलकम टर्नबुल ने आज फिर दोहराया कि यह ऑस्ट्रेलिया के लिये घोर अपमान है और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को पूरी दृढ़ता के साथ कार्रवाई करनी चाहिए.