क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (CA) अपने कोच जस्टिन लैंगर (Justin Langer) से नाराज है। लैंगर ने हाल ही में कहा था देश के क्रिकेट बोर्ड, टीम प्रबंधन को भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाली सीरीज में नस्लवाद विरोध में संदेश देने के लिए पूर्व रुल्स फुटबॉल खिलाड़ी एडम गुड्स (Adam Goodes) और ऑस्ट्रेलियाई पत्रकार स्टान ग्रांट से सलाह लेने की बात कही थी। एडम ने अपने करियर में नस्लवाद का सामना किया था। उनके इस संघर्ष पर फिल्म ‘द आस्ट्रेलियन ड्रीम्स’ भी बनी है, जिसे पत्रकार स्टान ग्रांट ने लिखा था।Also Read - Australian Cricket Hall of Fame: Justin Langer ‘ऑस्ट्रेलियन क्रिकेट हॉल ऑफ फेम’ में शामिल, इस महिला क्रिकेट को भी सम्मान

सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड की रिपोर्ट के मुताबिक, ‘सीए इन दोनों का नाम सुर्खियों में आने से निराश है। उसकी मंशा इन लोगों से निजी तौर पर बात करने की थी और वह इन दोनों पर गैरजरूर दबाव नहीं डालना चाहती थी। सीए के आंतरिक लोग इस बात से हैरान हैं कि लैंगर ने एडम और ग्रांट का नाम सरेआम लिया, जबकि उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए था।’ Also Read - श्रीलंका के खिलाफ टी20 सीरीज के लिए डेविड वार्नर, मिशेल मार्श को आराम; कोच लैंगर को भी मिली छुट्टी

ग्रांट की पत्नी और ऑस्ट्रेलिया ब्रॉडकास्टर ट्रेसी होल्मस ने भी लैंगर को एडम का नाम उनकी मंजूरी के बिना लेने को लेकर आलोचना की है। लैंगर ने शुक्रवार को मीडिया से बात करते हुए यह बयान दिया था। Also Read - बिग बैश लीग में सिडनी सिक्सर्स के लिए नहीं खेल पाएंगे स्टीव स्मिथ, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने नहीं दी इजाजत

होल्मस ने ट्वीट किया, “क्या कहानी थोड़ी अजीब नहीं है? ऐसा लग रहा है कि एडम को ऑस्ट्रेलियाई टीम के पास इस बात को मनाने के लिए भेजा गया है कि क्या वह नस्लवाद के खिलाफ कदम उठाएगी या नहीं।’

सीए ने ऑस्ट्रेलिया की सीमित ओवरों की टीम के कप्तान एरॉन फिंच, तेज गेंदबाज पैट कमिंस और गैविन डोवे के साथ इस मसले पर बात की है।