दुनिया भर में कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण अब तक लगभग 3500 लोगों की मौत हो चुकी है और कई अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट स्थगित कर दिए गए हैं बावजूद इसके इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) पर इसका असर होता हुआ दिखाई नहीं दे रहा है. क्रिकेट का बहुत कम देशों में खेला जाना आईपीएल के लिए वरदान साबित हो सकता है क्योंकि लगता है कि घातक कोरोना वायरस के खतरे के बावजूद यह टी20 लीग सही समय पर शुरू होगी. Also Read - COVID-19 से दुनिया में मौतों का आंकड़ा 34,610, संक्रमण के 7 लाख 27 हजार से ज्‍यादा केस

बांग्‍लादेश की वनडे कप्‍तानी से मशरफे मुर्तजा की छुट्टी, ये है वजह Also Read - Covid-19: बिना इजाजत के धार्मिक कार्यक्रम में शामिल हुए 200 लोग, कोरोना के लक्षण दिखने पर निजामुद्दीन इलाके की घेराबंदी

आईपीएल 29 मार्च से मुंबई में शुरू होगा. गुरुवार तक भारत में कोरोना वायरस के मरीजों के संख्या 29 थी जिसमें 16 इतालवी पर्यटक हैं. आईपीएल की आठ फ्रेंचाइजी टीमों में शामिल कोई भी विदेशी खिलाड़ी हालांकि अब तक भारत की यात्रा करने के प्रति आशंकित नहीं है. Also Read - कोरोना के खिलाफ लड़ाई, PM-CARES Fund में 500 करोड़ दान करेगा रिलायंस

क्रिकेट खेलने वाले देशों ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, न्यूजीलैंड, दक्षिण अफ्रीका और कैरेबियाई देशों के लगभग 60 खिलाड़ी आईपीएल में भागलेंगे और इन देशों में से कोई भी कोरोना वायरस से प्रभावित नहीं है.

बीसीसीआई के एक अधिकारी ने गोपनीयता की शर्त पर पीटीआई से कहा, ‘आईओसी कह रही है कि टोक्यो में ओलंपिक खेल तय कार्यक्रम के अनुसार होंगे. इस तरह से देखा जाए तो आईपीएल काफी छोटा टूर्नामेंट है. अगर ओलंपिक हो सकता है तो फिर आईपीएल क्यों नहीं हो सकता है.’

इंडिया ओपन 2020 टूर्नामेंट पर भी कोरोना वायरस का खतरा, सरकार के संपर्क में भारतीय बैडमिंटन संघ

दूसरा बड़ा कारण प्रसारक है. स्टार स्पोर्टस ने 16,347 करोड़ रुपये में पांच साल के लिये प्रसारण अधिकार खरीदे हैं और अगर टूर्नामेंट तय कार्यक्रम के अनुसार नहीं होता है तो विज्ञापन से होने वाला उनका राजस्व प्रभावित होगा. आईपीएल से पहले भारत में इंडियन ओपन 2020 बैडमिंटन टूर्नामेंट 24 मार्च से शुरू होना है. भारतीय बैडमिंटन संघ भी अपने इस टूर्नामेंट को आयोजित करने को लेकर आश्वस्त है.