बीसीसीआई ने अपनी 90वीं एजीएम के बाद कई महत्वपूर्ण फैसले लिए हैं. इनमें से एक यह है कि अब भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) मैच अधिकारियों और सहयोगी सदस्यों की बड़ी राहत दी है. अब इनकी रिटायरमेंट की आयु सीमा में 5 साल की बढ़ोतरी की है.Also Read - IND vs SA- पहले वनडे के लिए क्या होगी टीम इंडिया की प्लेइंग XI, Wasim Jaffer ने बताया

एसजीएम मीटिंग के बाद एक बयान में बताया गया, ‘मैच अधिकारियों और सहयोगी सदस्यों की आयु सीमा 60 वर्ष से बढ़ाकर 65 वर्ष कर दी गई है. हालांकि यह उनकी फिटनेस पर निर्भर करेगा.’ Also Read - Rohit Sharma होंगे भारत के नए टेस्ट कप्तान, जल्द होगा ऐलान: रिपोर्ट

बोर्ड के इस फैसले से अंपायर, मैच स्कोरर, मैच रेफरी जैसे अधिकारियों को फायदा होगा. बोर्ड के एक अधिकारी ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘अब हमारे पास दिशानिर्देश हैं. अब उन्हें सेवानिवृति के लिए पांच साल अधिक समय मिलेगा.’ Also Read - BCCI चाहता था अपना 100वां टेस्ट बतौर भारतीय कप्तान खेलें Virat Kohli, लेकिन नहीं मानें विराट

एजीएम में पूर्वोत्तर राज्यों, पुडुचेरी, बिहार और उत्तराखंड में क्रिकेट के विकास के लिए कई प्रस्ताव पारित किए गए हैं. अधिकारी ने कहा, ‘प्रत्येक राज्य संघ को 10 करोड़ रुपये मंजूर किए गए हैं और हर जगह इनडोर सुविधा विकसित करने पर जोर दिया जाएगा.’

अन्य फैसलों में बोर्ड ने बृजेश पटेल और एमकेजे मजूमदार को आईपीएल (इंडियन प्रीमियर लीग) संचालन परिषद में शामिल किया है. बयान में कहा गया, ‘भारत के बाएं हाथ के पूर्व स्पिनर प्रज्ञान ओझा पहले से आईपीएल संचालन समिति में भारतीय क्रिकेटर संघ के प्रतिनिधि के रूप में हैं.’ बीसीसीआई ने दौरा, कार्यक्रम एवं तकनीकी समिति, अंपायर समिति और डिफरेंटली एबल्ड (दिव्यांग) क्रिकेट समिति के गठन की भी घोषणा की.’