England vs India, 1st Test: भारत के खिलाफ इंग्लैंड के कप्तान जो रूट (Joe Root) ने नॉटिंघम (Trent Bridge, Nottingham) में जारी पहले टेस्ट में शानदार बल्लेबाजी की. रूट ने पहली पारी में 64, जबकि दूसरी इनिंग में 109 रन बनाए, जो मेजबान टीम की ओर से सर्वोच्च स्कोर रहे. जो रूट के दम पर इंग्लैंड ने भारत को 209 रन का टारगेट दिया है. शतकीय पारी के बाद जो रूट ने खुद इस बात कर दिया है कि उन्होंने किस तरह शानदार लय वापस हासिल की है.Also Read - Pakistan की एक बार फिर फजीहत, Sri Lanka समेत इस टीम ने भी किया दौरे से इनकार

रूट ने चौथे दिन के खेल के बाद ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘मुझे बड़ा स्कोर बनाकर और इस टेस्ट में टीम को ऐसी स्थिति में लाने की खुशी है जहां से हमारे पास मैच जीतने का मौका है.’’ Also Read - श्रीलंकाई दिग्गज लसिथ मलिंगा ने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास का ऐलान किया

जो रूट ने श्रीलंका के खिलाफ जून-जुलाई में खेली गयी 68 और 79 रन की नाबाद पारियों का जिक्र करते हुए कहा, ‘‘मुझे सीमित ओवरों की श्रृंखला (श्रीलंका के खिलाफ) में खेलने से वास्तव में फायदा हुआ. इस श्रृंखला से पहले अगर हम टेस्ट मैच खेलते तो और भी अच्छा होता, लेकिन मेरा मानना है कि एकदिवसीय क्रिकेट में खेलने से बल्लेबाजी में मेरी लय वापस आई है. न्यूजीलैंड (लॉर्ड्स टेस्ट) के खिलाफ मैच के बाद मैंने तकनीक में कुछ बदलाव किये थे, मुझे लगता है मैं अब क्रीज का अच्छे से इस्तेमाल कर रहा हूं. ’’ Also Read - जसप्रीत बुमराह को पछाड़ ICC player of the Month बनें जो रूट

रूट अपनी पारी के दौरान इस साल टेस्ट में 1000 रन के आंकड़े को छूने वाले पहले बल्लेबाज बने. इस साल भारत के खिलाफ चेन्नई टेस्ट में 218 रन की पारी खेलने वाले रूट के नाम 2021 में 1024 टेस्ट रन दर्ज हो गये हैं. रूट ने कहा, ‘‘ मुझे लगता है कि 50 ओवर के प्रारूप में खेलने से टेस्ट में मेरी बल्लेबाजी को काफी मदद मिलेगी.’’

इंग्लैंड के बल्लेबाजों और भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज के बीच मैच के दौरान थोड़ी छींटाकशी भी हुई और जब रूट से इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने इसे ‘ अच्छे मजाक’ की तरह करार दिया. उन्होंने कहा, ‘‘मेरी उनसे काफी अच्छी बातचीत हुई. उसने मुझे बताया कि वह कितनी अच्छी गेंदबाजी कर रहा है और मैं उसकी बातों से सहमत था.’’