England vs India, 5th Test: भारत-इंग्लैंड के बीच मैनचेस्ट में खेले जाने वाले पांचवें टेस्ट मैच के रद्द होने के बाद दिनेश कार्तिक (Dinesh Karthik) ने बड़ा खुलासा किया है. दिनेश कार्तिक के मुताबिक भारतीय खिलाड़ियों को टीम के सहायक फिजियो योगेश परमार (Yogesh Parmar) के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद घबराहट हो रही थी, जिसके कारण उन्हें इंग्लैंड के खिलाफ पांचवां और अंतिम टेस्ट खेलने में असहज थे.Also Read - IPL 2021: टी नटराजन की जगह सनराइजर्स हैदराबाद में शामिल हुए जम्मू-कश्मीर के उमरान मलिक

मुख्य कोच रवि शास्त्री, गेंदबाजी कोच भरत अरुण और फील्डिंग कोच आर श्रीधर के बाद सहायक फिजियो योगेश परमार के कोविड-19 के लिये पॉजिटिव पाए जाने के बाद खिलाड़ियों पर खतरा मंडरा रहा था. इसके बाद शुक्रवार को टॉस के समय से लगभग दो घंटे पहले इस मैच को रद्द कर दिया गया. Also Read - COVID-19: देश में कोरोना के 31,382 नए केस आए, एक्‍ट‍िव मरीज घटकर 3 लाख 162 रह गए

दिनेश कार्तिक ने स्काई स्पोर्ट्स से कहा, ‘‘मैंने कुछ लोगों (भारतीय खिलाड़ियों) से बात की. शृंखला के सभी मैच लगभग आखिरी दिन तक खेले गये, सभी खिलाड़ी थके हुए है और टीम में पास सिर्फ एक फिजियो है. उनके पास दो फिजियो थे, लेकिन उनमें से एक मुख्य कोच एवं दो अन्य कोच के साथ कोविड-19 के कारण पृथकवास में है. उनके पास एक ही फिजियो था जो अब कोरोना वायरस से संक्रमित है. यह बड़ी समस्या है. अगर यह कोई और होता, आपको लॉजिस्टिक्स मदद की जरूरत होती तो कर देता. यह सब इतना डरावना नहीं होता, लेकिन जब फिजियो ही इसकी चपेट में आ गया तो मुझे लगता है कि उन्हें थोड़ी घबराहट होने लगी.’’ Also Read - IPL 2021- MI vs KKR: कोलकाता ने टॉस जीता- पहले करेगी फील्डिंग, मुंबई की टीम में कप्तान Rohit Sharma लौटे

इस शृंखला का आयोजन सख्त बायो-बबल में नहीं हो रहा था, लेकिन खिलाड़ियों को यूएई के लिए उड़ान भरने से पहले पांचवें टेस्ट के दौरान बायो-बबल में रहने के लिए कहा गया था . खिलाड़ी इंग्लैंड के बायो-बबल से यूएई के बायो बबल में शामिल होंगे.

कार्तिक ने कहा, ‘‘आपको यह भी समझना होगा कि इस शृंखला के खत्म होते ही उन्हें आईपीए और फिर विश्व कप में भाग लेना है. उसके तुरंत बाद न्यूजीलैंड शृंखला है . इन सब के बीच लगभग एक सप्ताह का समय है. लंबे समय से राष्ट्रीय टीम से बाहर चल रहे इस विकेटकीपर ने कहा, ‘‘ वे (दौरे पर आये भारतीय खिलाड़ी) कितने दिनों तक बायो बबल में रहेंगे? वे इंग्लैंड रवाना के लिए 16 मई में भारत में एकत्र हुए थे. लगभग चार महीने हो गये. पहले ही यह काफी लंबा समय है.’’

दिनेश कार्तिक ने कहा कि एक बार जूनियर फिजियो के जांच (कोविड-19) में पॉजिटिव होने के बाद खिलाड़ियों को मानसिक रूप से मुश्किल समय का सामना करना पड़ा और ऐसा कोई रास्ता नहीं था जिससे शृंखला का निर्णायक मुकाबला तय कार्यक्रम के अनुसार हो. इसके अलावा आपको यह भी समझना होगा कि अगर मैच के दौरान तीसरे दिन अंतिम एकादश का कोई खिलाड़ी जांच में कोविड-19 पॉजिटिव होता है तो उसके साथ क्या होगा. क्या उस खिलाड़ी से दूसरे भी संक्रमित होंगे? इससे सभी खिलाड़ी को खतरा रहेगा और उन्हें कम से कम दस दिनों तक इंग्लैंड में रहना होगा, ऐसे में आईपीएल का क्या होगा.’’

कार्तिक ने तर्क दिया, ‘‘ यह जरूरी नहीं कि अगर आज जांच में खिलाड़ी नेगेटिव आते हैं, तो दो दिन बाद भी नेगेटिव ही रहेंगे. अगर एक भी खिलाड़ी जांच में पॉजिटिव आता है तो चीजें काफी बदल जाएंगी.’’