England vs India, 5th Test: भारत-इंग्लैंड के बीच 10 सितंबर से मैनचेस्टर में पांचवें टेस्ट की शुरुआत होनी थी, लेकिन भारतीय खेमे में बढ़ते कोरोना मामलों के चलते इसे रद्द कर दिया गया. मुख्य कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri), गेंदबाजी कोच भरत अरुण (Bharat Arun) और फील्डिंग कोच आर श्रीधर (R Sridhar) के बाद सहायक फिजियो योगेश (Yogesh Parmar) भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए, जिसके बाद भारतीय खिलाड़ियों ने मुकाबला रद्द करने की अपील कर दी थी.Also Read - Ravi Shastri नहीं चाहते थे Virat Kohli रहें कप्तान, T20 समेत इस फॉर्मेट की कप्तानी छोड़ने को कहा!

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) और इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) द्वारा निर्णायक मैच को रद्द करने के फैसले के बाद इंग्लिश मीडिया ने भारतीय खिलाड़ियों पर आरोप लगाए हैं. Also Read - IPL New Team Auction: बीसीसीआई ने बढ़ाई आवेदन की तारीख, 10 लाख नॉन-रिफंडेबल राशि से कर सकते हैं आवेदन

डेली मेल ने अपनी रिपोर्ट में कहा, “एक भी खिलाड़ी कोरोना पॉजिटिव नहीं आया तो भारत ने खेलने से इनकार क्यों किया? भारत के खिलाड़ी 19 सितंबर से संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में आकर्षक इंडियन प्रीमियर लीग में शामिल होने के लिए बेताब हैं. ऐसा लगता है उन्होंने अपने प्री-मैच प्रशिक्षण सत्र को रद्द करने और अपने होटल के कमरों में अलग-थलग करने की सावधानी बरती.” Also Read - RCB के 92 पर ऑलआउट होते ही Deepkia Padukone का ये ट्वीट होने लगा वायरल, RR का उड़ाया था मजाक

इस रिपोर्ट में कहा, “भारतीय मुख्य कोच शास्त्री ने लंदन के एक होटल में पूरे भारतीय दल के साथ एक व्यस्त पुस्तक लॉन्च में भाग लिया जिसके बाद वह कोरोना पॉजिटिव पाए गए.”

बीबीसी का भी मानना है कि इसके रद्द होने का आईपीएल के साथ कुछ लेना-देना हो सकता है. उनकी रिपोर्ट में कहा, “यह काफी विचित्र है क्योंकि कल रात सभी खिलाड़ियों ने अपने पीसीआर परीक्षण पास कर लिए थे. हम यह सोचकर सो गए थे कि मैच होगा.”

बता दें कि मैच रद्द होने के बाद बीसीसीआई ने बयान जारी कर कहा, “भारतीय क्रिकेट बोर्ड और ईसीबी के बीच मजबूत संबंध को देखते हुए बीसीसीआई इंग्लिश क्रिकेट बोर्ड को रद्द हुए टेस्ट मैच को पुनर्निर्धारित करने का प्रस्ताव देता है. दोनों बोर्ड मिलकर इस टेस्ट मैच को दोबारा कराने के लिए किसी उपयुक्त विंडो की तलाश करें.”

बीसीसीआई ने बयान में कहा, “दोनों बोर्ड ने मिलकर कई राउंड की चर्चा की जिससे टेस्ट मैच कराने का रास्ता निकले. हालांकि, भारतीय दल में कोरोना के मामले के कारण इस मैच को रद्द करने का फैसला लेना पड़ा.”

बयान में कहा, “बीसीसीआई ने हमेशा से खिलाड़ियों की सुरक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता दी है और इससे समझौता नहीं किया है. बोर्ड ईसीबी को इस कठिन स्थिति को समझने और उनके सहयोग के लिए उन्हें धन्यवाद देता है.”