भारतीय टीम के सलामी बल्‍लेबाज रोहित शर्मा (Rohit Sharma) का बीते इंग्‍लैंड दौरे के दौरान प्रदर्शन बेहद शानदार रहा. हालां‍कि वो कोई शतकीय पारी नहीं खेल पाए लेकिन इसके बावजूद भी कई मौकों पर उन्‍होंने टीम के लिए अहम योगदान‍ दिया. शर्मा जी का कहना है कि उन्‍होंने इंग्‍लैंड दौरे की तैयारी के लिए अपने स्‍टांस में काफी परिवर्तन किया था. नए तरीके से बल्‍लेबाजी करने के कारण उनकी कलाई में काफी दर्द हो रहा था लेकिन उन्‍होंने कंडीशन में ढलने के लिए इसे जारी रखा.Also Read - विराट कोहली के बाद कौन होगा टीम इंडिया का अगला टेस्ट कप्तान? मोहम्मद शमी ने दिया जवाब

स्‍पोर्ट्स जर्नलिस्‍ट बोरिया मजूमदार से बातचीत के दौरान रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने कहा, “इंग्‍लैंड दौरे के दौरान मैंने अपने स्‍टांस के कुछ पहलुओं में बदलाव किया था. मैंने अपने हाथों को शरीर के पास रखना शुरू कर दिया. ऐसा करने से मेरी कलाई में दर्द होने लगा क्‍योंकि मैं ऐसा करने का आदी नहीं था. इस तरह से अचानक किए गए परिवर्तन के कारण आपकी पसलियां उन चीजों के लिए पूरी तरह से तैयार नहीं होती हैं. ये मुझे काफी दर्द दे रहा था लेकिन मैं इसके लिए तैयार था. जब भी आप ऑस्‍ट्रेलिया, इंग्‍लैंड और न्‍यूजीलैंड जैसे देशों में जाते हो तो काफी तैयारी करने की जरूरत होती है.” Also Read - रविचंद्रन अश्विन जैसी है प्रसिद्ध कृष्णा की मानसिकता, उसका अपना दिमाग है: दिनेश कार्तिक

रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने इंग्‍लैंड में अच्‍छे प्रदर्शन का श्रेय सपोर्ट स्‍टार को दिया. उन्‍होंने कहा, “इंग्‍लैंड दौरे पर हमें वर्ल्‍ड टेस्‍ट चैंपियनशिप के बाद प्रैक्टिस के लिए काफी वक्‍त मिला था. हमारे पास 15 से 20 दिन प्रैक्टिस के लिए थे. सपोर्ट स्‍टाफ में दया ने काफी मदद की. वो ठीक उसी तरह से गेंद फ्रें रहे थे जैसे जेम्‍स एंडरसन डालते हैं. दया बहुत अच्‍छी स्विग करा रहे थे. रघू ने बैक ऑफ द लेंथ गेंदबाजी की प्रैक्टिस करवाई. हमारे पास श्रीलंका से एक लेफ्ट आर्म गेंदबाज भी था.” Also Read - फिटनेस के लिए Hardik Pandya ने लिया 'चाइनीज योगा' का सहारा, तस्वीरें वायरल