Team India Register Biggest Ever Victory in Test Cricket in Terms of Largest Margin: मुंबई में खेले गए टेस्‍ट सीरीज के दूसरे मुकाबले में भारत की टीम ने न्‍यूजीलैंड पर 372 रन से ऐतिहासिक जीत दर्ज की. यह जीत कई मायनों में बेहद बड़ी है क्‍योंकि रनों के लिहाज से भारत ने आज तक टेस्‍ट क्रिकेट में किसी टीम को 372 रनों के बड़े अंतर से नहीं हराया है. टेस्‍ट क्रिकेट में रनों के लिहाज से भारत की दूसरी सबसे बड़ी जीत की बात की जाए तो इससे पहले टीम इंडिया ने साल 2007 में दिल्‍ली में हुए मुकाबले के दौरान साउथ अफ्रीका को 337 रनों से मात दी थी. 2016 में भारत ने इंदौर टेस्‍ट में न्‍यूजीलैंड को 321 रनों से भी हरा चुका है. हालांकि वर्ल्‍ड क्रिकेट की बात की जाए तो साल 1928 में इंग्‍लैंड ने ऑस्‍ट्रेलिया को ब्रिसबेन में खेले गए मुकाबले में 675 रनों के अंतर से हराया था.Also Read - ICC Men's Test Team of the Year 2021: आईसीसी ने चुनी वर्ष की सर्वश्रेष्ठ प्लेइंग इलेवन, Rohit Sharma समेत ये भारतीय शामिल

मुंबई का किला फतह करने के साथ ही भारत ने टेस्‍ट सीरीज को 1-0 से अपने नाम कर लिया है. भारत की जीत के हीरो मयंक अग्रवाल और रविचंद्रन अश्विन जैसे खिलाड़ी रहे. अग्रवाल ने पहली पारी में 150 रन ठोकने के बाद दूसरी पारी में 62 रन बनाए. वहीं, अश्विन ने दोनों पारियों के दौरान ही चार-चार विकेट निकाल कीवी बल्‍लेबाजी क्रम की कमर तोड़ दी. न्‍यूजीलैंड के स्पिनर एजाज पटेल ने पहली पारी के दौरान भारत के सभी 10 विकेट अपने नाम कर इतिहास जरूर रच दिया था लेकिन इसके बावजूद कमजोर बल्‍लेबाजी के चलते उनकी टीम को शिकस्‍त झेलनी पड़ी. Also Read - Virat Kohli के नाम Ravichandran Ashwin का ट्वीट, लिखी दिल को छूने वाली बात

तीसरे दिन का खेल खत्‍म होने तक कीवियों ने पांच विकेट के नुकसान पर 140 रन बना लिए थे. चौथे दिन कल के स्‍कोर में महज 37 रन जोड़ने के बाद टॉम लेथम की पूरी टीम महज एक घंटे के खेल के दौरान ही ऑलआउट हो गई. डेरेल मिशेल ने 60 और हेनरी निकोल्‍स ने 44 रनों का योगदान दिया. भारती की टीम ने पहले बल्‍लेबाजी करते हुए 325 रन बनाए। जवाब में मेहमान टीम 62 रन पर ही ऑलआउट हो गई थी। विराट एंड कंपनी ने न्‍यूजीलैंड को फॉलोऑन नहीं देने का निर्णय किया. 276-7 पर भारत ने पारी घोषित कर मेहमानों को बल्‍लेबाजी के लिए बुलाया। कीवियों को जीत के लिए 540 रनों का विशाल लक्ष्‍य मिला था. Also Read - IND vs SA: DRS विवाद के बाद ICC ने उठाया कदम, टीम इंडिया को...