Top Recommended Stories

नस्‍लभेद के आरोपों में फंसी अनुभवहीन अफ्रीकी टीम ने भारत को कैसे चटा दी धूल ? टेम्‍बा बावुमा बने वजह, जानें कैसे ?

साउथ अफ्रीका ने भारत को टेस्‍ट सीरीज 2-1 से हराई. इसके बाद वो वनडे सीरीज 3-0 से जीतने में सफल रहे. मुख्‍य कोच ग्रीम स्मिथ, एबी डीविलियर्स जैसे सीनियर खिलाड़ी इस वक्‍त क्रिकेट साउथ अफ्रीका की नस्‍लभेद के खिलाफ जारी जांच के दायरे में हैं.

Published: January 25, 2022 2:10 PM IST

By India.com Hindi Sports Desk | Edited by Sandeep Gupta

Temba Bavuma @ Twitter
Temba Bavuma @ Twitter

साउथ अफ्रीका के खिलाफ (India vs South Africa) वनडे और टेस्‍ट सीरीज में भारत को बुरी तरह शिकस्‍त झेलनी पड़ी. टीम इंडिया केवल एक टेस्‍ट मच जीत के साथ वापस स्‍वदेश लौटी है. ऐसे में सवाल टीम में फूट और बीसीसीआई व विराट के बीच अलगाव की खबरें चरम पर हैं. दूसरी तरफ भारतीय मूल के अफ्रीकी कमेंटेटर्स ने टेम्‍बा बावुमा (Temba Bavuma) की कप्‍तानी की जमकर तारीफ की.  एक अनुभवहीन टीम के साथ खेल रहे बावुमा ने अपने शांत व्‍यवहार के साथ मुश्किलों का सामना किया और साउथ अफ्रीका को जीत दिलाई.

Also Read:

कमेंटेटर असलम खोटा और फरीद डॉकराट ने पूर्व कप्तानों ग्रीम स्मिथ और एबी डिविलियर्स के साथ-साथ वर्तमान कोच मार्क बाउचर के खिलाफ उनके खेल के दिनों में रंगभेद के आरोपों से देश के क्रिकेट के प्रभावित होने के बाद टीम में स्थिरता लाने की बावुमा की क्षमता का उल्लेख किया.

खोटा ने कहा, ‘‘ वनडे टीम में कप्तान और बल्लेबाज के तौर पर उनकी मौजूदगी काफी अहम थी. मेरे लिए उनका शांत व्यवहार और कई बार चतुराई से लिये गये फैसले भारत पर 3-0 एकदिवसीय जीत का मुख्य आकर्षण था. टेस्ट मैचों के दौरान दक्षिण अफ्रीका के मध्य क्रम में बावुमा (Temba Bavuma) का शांत व्यवहार उनके प्रदर्शन के लिए महत्वपूर्ण था. इसने टीम को आखिर में विजेता बनाने में मदद की.’’

उन्होंने कहा, ‘‘ बावुमा काफी नाजुक मौके पर टीम की कमान संभाल रहे है.  इस समय मैदान के बाहर के मुद्दे (नस्लवाद और अन्य विवाद) हावी रहे थे. दक्षिण अफ्रीका वनडे क्रिकेट में सबसे अच्छी स्थिति में नहीं है कि अगर टीम शीर्ष आठ में नहीं रहती है तो उसे विश्व कप के लिए क्वालीफायर खेलना होगा. इसलिए, यह दक्षिण अफ्रीका के लिए 50 ओवर के प्रारूप में अहम समय है. बावुमा (Temba Bavuma) निश्चित तौर पर 2023 विश्व कप तक टीम के कप्तान रहेंगे.’’

उन्होंने कहा, ” सीएसए को लगातार रन बनाने वाले शीर्ष क्रम के अश्वेत बल्लेबाज की जरूरत थी. लेकिन उनके चतुर नेतृत्व और रणनीति ने एक और चुनौती का समाधान कर दिया. ’भारत के खिलाफ 3-0 की यादगार जीत में एक कप्तान के रूप में बावुमा की भूमिका न्यूलैंड्स में आखिरी ओवरों में शानदार थी. उन्होंने जीत हासिल करने के लिए अपनी गेंदबाजी इकाई का बेहतर इस्तेमाल किया.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें की और अन्य ताजा-तरीन खबरें