Virat को 150 रन का बचाव करते हुए भी कभी नहीं मिली हार, फैन्‍स के हत्‍थे चढ़े KL Rahul

जोहान्‍सबर्ग टेस्‍ट में भारत को 240 रनों के लक्ष्‍य का बचाव करना था. केएल राहुल पहली बार टेस्‍ट क्रिकेट में कप्‍तान के तौर पर डेब्‍यू कर रहे थे.

Updated: January 6, 2022 10:25 PM IST

By India.com Hindi Sports Desk | Edited by Sandeep Gupta

KL Rahul Virat Kohli Twitter 2
KL Rahul with Virat Kohli @ Twitter

जोहान्‍सबर्ग के वांडर्स क्रिकेट मैदान (IND vs SA Test) पर टीम इंडिया को सात विकेट से हार क्‍या मिली फैन्‍स ने केएल राहल  (KL Rahul) को ट्रोल करना शुरू कर दिया. विराट कोहली (Virat Kohli) भी देखते ही देखते टॉप ट्रेंड में आ गए. यह पहला मौका था जब केएल राहुल खेल के सबसे लंबे प्रारूप में भारत की कप्‍तानी कर रहे थे. पंजाब किंग्‍स के लिए जीते हुए मैच अंतिम वक्‍त पर हारने के लिए बदनाम केएल राहुल के साथ वांडर्स टेस्‍ट में भी कुछ ऐसा ही हुआ. भारत को 240 रनों के लक्ष्‍य का बचाव करना था. आमतौर पर इतने बड़े लक्ष्‍य को चौथी पारी में बना पाना इतना आसान नहीं माना जात लेकिन साउथ अफ्रीका ने ये कर दिखाया.

Also Read:

विराट 150 रन के लक्ष्‍य का भी कर लेते हैं बचाव

अगर आंकड़ों पर नजर डालें तो भारतीय टेस्‍ट कप्‍तान विराट कोहली टेस्‍ट क्रिकेट में लक्ष्‍य का बचाव करने के मामले में अव्‍वल हैं. वो कभी 150 या इससे अधिक रन के लक्ष्‍य का बचाव करने के दौरान नहीं हारे. 27 मौकों पर विराट को 150 या इससे अधिक रन के लक्ष्‍य का बचाव करना था. इनमें से 25 बार उन्‍हें जीत मिली जबकि दो मैच ड्रॉ रहे.

कप्‍तानी में केएल राहुल फिसड्डी

कप्‍तानी की बात की जाए तो इस मामले में केएल राहुल हमेशा ही फिसड्डी साबित हुए हैं. पंजाब किंग्‍स के लिए दो सीजन तक कप्‍तानी करने के दौरान वो इस टीम की नैया पार नहीं लगा पाए. हालांकि उनका खुद का प्रदर्शन बेहद अच्‍छा हरा. आईपीएल के दौरान कई मौकों पर यह देखा गया है कि राहुल काफी बदनसीब रहे. जीती हुई बाजी वो अंतिम वक्‍त पर टीम के खराब प्रदर्शन के कारण हार गए.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: January 6, 2022 10:22 PM IST

Updated Date: January 6, 2022 10:25 PM IST