साउथ अफ्रीका में कोरोना वायरस (Coronavirus in South Africa) के नए वैरिएंट ओमीक्रोन (Omocron) का असर भारतीय क्रिकेट टीम दौरे पर भी पड़ा है. भारत ने साउथ अफ्रीका दौरे को एक सप्ताह आगे खिसका दिया है. अब सीरीज का पहला टेस्ट 26 दिसंबर 2021 को खेला जाएगा. बीसीसीआई ने शनिवार को कोलकाता में हुई अपनी 90वीं वार्षिक आम बैठक (SGM) में यह निर्णय लिया.Also Read - IND vs SA- लगातार 2 मैच हारकर वनडे सीरीज हारा भारत, ये रहीं कमजोर कड़ियां

बोर्ड ने मीटिंग के बाद जारी विज्ञप्ति में अपने फैसलों की जानकारी देते हुए इस बारे में बताया. बयान में कहा गया, ‘भारत का साउथ अफ्रीका दौरा 2021-22, संशोधित तिथियों और यात्रा कार्यक्रम के साथ आगे बढ़ेगा. टीम तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में भाग लेगी, जिसके बाद 26 दिसंबर, 2021 से शुरू होने वाली तीन मैचों की वनडे सीरीज होगी.’ Also Read - IND vs SA- यह हमारे घर जैसी पिच, उम्मीद नहीं थी कि वे इतनी असानी से हमें हरा देंगे: KL Rahul

क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका (CSA) द्वारा कुछ घंटे पहले कहा गया था कि भारत का दौरा योजना के अनुसार आगे बढ़ेगा, जिससे कोविड-19 वायरस (Covid 19 Virus) के नए स्वरूप ओमिक्रॉन के कारण अनिश्चितता की स्थिति साफ हो जाएगी. चार टी20I मैच इस दौरे का हिस्सा नहीं होंगे और इसे अगले साल के लिए फिर से तय किया जाएगा. सीएसए ने यह भी कहा कि दौरे के लिए स्थानों की घोषणा अगले 48 घंटों में की जाएगी. Also Read - IND vs SA, 2nd ODI: मलान-डी कॉक की शानदार बल्‍लेबाजी से 7 विकेट से हारा भारत, 0-2 से सीरीज भी गंवाई

एजीएम में बीसीसीआई द्वारा लिए गए अन्य प्रमुख निर्णयों में इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) गवर्निग काउंसिल में प्रतिनिधि के रूप में बृजेश पटेल और एम खैरुल जमाल मजूमदार को फिर से शामिल किया गया, जबकि भारत के पूर्व स्पिनर प्रज्ञान ओझा को भारतीय क्रिकेटरों के प्रतिनिधि के रूप में शामिल किया गया.

आईपीएल गवर्निग काउंसिल में एसोसिएशन (ICA) ने टूर्स, फिक्स्चर्स एंड टेक्निकल कमेटी, अंपायर कमेटी और डिफरेंटली एबल्ड क्रिकेट कमेटी बनाने के फैसले की भी घोषणा की.

(इनपुट: आईएएनएस)