Pakistan vs West Indies: न्यूजीलैंड के बाद इंग्लैंड ने पाकिस्तान दौरा रद्द कर दिया है, जिससे पड़ोसी मुल्क की पूरे विश्व में किरकिरी हुई है, लेकिन अब वेस्टइंडीज ने पाकिस्तान की लाज बचा ली है. क्रिकेट वेस्टइंडीज (Cricket West Indies) ने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (Pakistan Cricket Board) को आश्वासन दिया कि वह इस साल दिसंबर में अपने दौरे की प्रतिबद्धता का सम्मान करने की योजना बना रहा है.Also Read - Highlights and Updates SCO vs NAM T20 World Cup 2021: नामीबिया ने स्कॉटलैंड को 4 विकेट से हराया

तीन साल पहले, जेसन मोहम्मद के नेतृत्व में वेस्टइंडीज की टीम ने कराची में तीन टी20 मैचों के लिए पाकिस्तान का दौरा किया था. अब वेस्टइंडीज को पाकिस्तान में तीन वनडे और तीन टी20 मैच खेलने हैं. सीडब्ल्यूआई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी जॉनी ग्रेव ने कहा कि कैरिबियन में खेल के शासी निकाय का दौरे के दायित्वों को पूरा नहीं करने का कोई इरादा नहीं है. Also Read - ENG vs BAN: सफेद गेंद के क्रिकेट में इंग्‍लैंड मजबूत होता जा रहा है, इयोन मोर्गन ने बांग्‍लादेश की जीत पर कहा...

ग्रेव ने त्रिनिदाद न्यूजडे के हवाले से कहा, “हमारा इरादा अपने दौरे के दायित्वों को पूरा करना है. हमारे पास एक बहुत स्पष्ट प्रक्रिया है जिसे हम स्वतंत्र सुरक्षा विशेषज्ञों के साथ करते हैं, जैसा कि हमने 2018 में किया था.” Also Read - Highlights ENG vs BAN T20 World Cup 2021: जेसन रॉय के अर्धशतक से इंग्‍लैंड ने दर्ज की आठ विकेट से जीत, SF की राह हुई आसान !

ग्रेव ने कहा, “हम उस प्रक्रिया का पालन करेंगे, निदेशक मंडल, डब्ल्यूआईपीए (वेस्टइंडीज प्लेयर्स एसोसिएशन), साथ ही खिलाड़ी स्वयं योजनाओं और हमारी रिपोर्ट की समीक्षा करेंगे, जिसमें स्वतंत्र सुरक्षा सलाह भी शामिल है. पिछले कुछ वर्षों में पाकिस्तान में हमारे अधिकांश महिला और पुरुष खिलाड़ी खेल चुके हैं.”

ग्रेव ने कहा, “हम पहले प्रक्रिया से गुजरेंगे, पीसीबी और सुरक्षा विशेषज्ञों के साथ. हम खिलाड़ियों के साथ किसी भी सवाल का जवाब देने और उन्हें सारी जानकारी देने के लिए बैठक करेंगे. हम अभी उस प्रक्रिया की शुरुआत में हैं.”

अफगानिस्तान क्रिकेड बोर्ड प्रमुख अजिजुल्लाह फाजली के मुताबिक उनका मुल्क पाकिस्तान की मेजबानी करना चाहता है. फाजली ने कहा, “मैं 25 सितंबर से पाकिस्तान का दौरा कर रहा हूं और फिर क्रिकेट बोर्ड के अधिकारियों से मिलने भारत, बांग्लादेश और संयुक्त अरब अमीरात जाऊंगा. हम अफगानिस्तान क्रिकेट में सुधार करना चाहते हैं, ताकि अन्य देशों के सहयोग से इसमें सुधार हो सके.”