न्यूजीलैंड द्वारा सीरीज रद्द करने के बाद पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) की एक बार फिर फजीहत हुई है. न्यूजीलैंड ने रावलपिंडी में खेले जाने वाले शुरुआती वनडे से कुछ मिनट पहले सुरक्षा खतरे का हवाला देते हुए दौरा रद्द कर दिया था, जिसके बाद पीसीबी ने श्रीलंका और बांग्लादेश से अपने मुल्क में संक्षिप्त शृंखला के लिए संपर्क किया, लेकिन बात नहीं बन सकी. पीसीबी के सीईओ (मुख्य कार्यकारी अधिकारी) वसीम खान ने कहा कि श्रीलंका क्रिकेट (SLC) और बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (BCB) ने पाकिस्तान में खेलने की इच्छा जताई, लेकिन उनके पास अपनी टीम भेजने के लिए बहुत कम समय था.Also Read - T20 World Cup 2021: पाकिस्तान का अजेय अभियान जारी, न्यूजीलैंड को 5 विकेट से दी मात

उन्होंने कहा, ‘‘हमारे अध्यक्ष ने उनसे बात की और एक छोटे दौरे की संभावना के बारे में पूछा जिस पर उन्होंने सकारात्मक प्रतिक्रिया दी. दोनों बोर्ड ने हालांकि बताया कि उनके लिए अपनी पहले से ही सुनिश्चित योजनाओं को बदलना बहुत मुश्किल है और उनके कुछ खिलाड़ी भी देश से बाहर है. उन्होंने मजबूत इच्छा दिखाई लेकिन समय की कमी के कारण उनके लिए एक दौरा करना संभव नहीं था. उनके पास विश्व कप (टी20) से पूर्व की अपनी योजनाएं है.’’ Also Read - T20 World Cup 2021: न्यूजीलैंड के हारने से भारत को मिली सेमीफाइनल की संजीवनी, जानें समीकरण

वसीम खान ने न्यूजीलैंड के खिलाफ विश्व टी20 कप मैच के बहिष्कार की किसी भी संभावना से इनकार किया, लेकिन यह स्पष्ट किया कि उनका मानना है कि न्यूजीलैंड ने पाकिस्तान क्रिकेट का अनादर किया है और उनके एकतरफा दौरे को छोड़ना किसी जख्म की तरह है. Also Read - PAK vs NZ, Highlights, T20 World Cup 2021: हैरिस राउफ के 4 विकेट हॉल के बाद रिजवान-मलिक की शानदार बल्‍लेबाजी से जीता पाकिस्‍तान

उन्होंने कहा, ‘‘हम विश्व क्रिकेट में एक वास्तविक समस्या का सामना कर रहे हैं. अगर ऐसे कथित खतरों पर सरकार से या खुफिया स्तर पर चर्चा नहीं की जा सकती है तो भविष्य में और टीमें एकतरफा फैसले के साथ दौरे छोड़ सकती हैं.’’

उन्होंने इस बात की पुष्टि की कि पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) इस भेदभाव के मुद्दे को उठाएगा. उनके अनुसार सभी सदस्य देशों के लिए एक समान नियम होने चाहिए.