ICC T20 World Cup 2021: टी20 विश्व कप में भारतीय टीम 24 अक्टूबर से अपने अभियान की शुरुआत करेगी. टीम इंडिया का पहला मुकाबला पाकिस्तान से होगा. हार्दिक पंड्या 15 सदस्यीय टीम में शामिल हैं, लेकिन उन्होंने हाल में संपन्न आईपीएल में दूसरे लेग में गेंदबाजी नहीं की है. ऐसे में पूर्व भारतीय क्रिकेटर गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने इस ऑलराउंडर को लेकर बड़ा बयान दिया है. गौतम गंभीर के मुताबिक हार्दिक पंड्या (Hardik Pandya) टी20 विश्व कप में भारत की प्लेइंग इलेवन का हिस्सा तभी हो सकते हैं, जब वह अभ्यास मैचों में सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी करने में सक्षम हों.Also Read - 13 दिसंबर को NCA से जुड़ेंगे VVS Laxman, अंडर- 19 वर्ल्ड कप के लिए टीम के साथ भी करेंगे यात्रा

गंभीर ने स्टार स्पोर्ट्स के कार्यक्रम गेम प्लान में कहा, ‘‘ मेरे लिए हार्दिक पंड्या भारत की अंतिम एकादश में तभी शामिल होंगे जब वे दोनों अभ्यास मैचों में सही गेंदबाजी करने में सक्षम रहेंगे. नेट सत्र में गेंदबाजी करने और बाबर आजम जैसे बेहतरीन बल्लेबाजों के खिलाफ और वह भी विश्व कप में दोनों में बहुत बड़ा अंतर है.’’ Also Read - IND vs SA: भारत के साउथ अफ्रीका दौरे पर दिखा Omicron का असर- एक सप्ताह आगे खिसका कार्यक्रम

विश्व कप विजेता पूर्व सलामी बल्लेबाज ने कहा, ‘‘ उसे अभ्यास मैचों और नेट्स में गेंदबाजी करनी होगी. उसे 100 प्रतिशत गेंदबाजी करनी होती है. अगर आप सोच रहे हैं कि आप आकर 115-120 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी करेंगे तो मैं यह जोखिम नहीं लूंगा.’’ Also Read - BCCI ने लिया बड़ा फैसला, मैच अधिकारियों और सहयोगी स्टाफ की उम्र सीमा बढ़ाकर की 65 साल

बता दें कि पंड्या की 2019 में पीठ की सर्जरी हुई थी, जिसके बाद से वह भारत और अपनी आईपीएल टीम मुंबई इंडियंस के लिए नियमित रूप से गेंदबाजी नहीं कर रहे हैं. हार्दिक को टी20 विश्व कप के लिए भारत की 15 सदस्यीय टीम में बल्लेबाजी ऑलराउंडर के रूप में चुना गया था, लेकिन जैसे-जैसे यह स्पष्ट होता गया कि वह इस टूर्नामेंट के दौरान गेंदबाजी करने में सक्षम नहीं होंगे, तो चयनकर्ताओं ने अक्षर पटेल को 15 सदस्यीय टीम से बाहर कर तेज गेंदबाजी विभाग को मजबूत करने के लिए शार्दुल ठाकुर को उसमें शामिल कर लिया.

ICC T20 World Cup, India Squad: विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा (उपकप्तान), लोकेश रहुल, सूर्य कुमार यादव, रिषभ पंत (विकेटकीपर), ईशान किशन (विकेटकीपर), हार्दिक पंड्या, रवींद्र जडेजा, राहुल चाहर, रविचंद्रन अश्विन, अक्षर पटेल, वरुण चक्रवर्ती, जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार और मोहम्मद शमी. स्टैंडबाई खिलाड़ी: श्रेयस अय्यर, शार्दुल ठाकुर और दीपक चाहर.