रोहित शर्मा (Rohit Sharma) भारतीय क्रिकेट टीम के सीमित ओवरों के कप्तान नियुक्त किए गए हैं. रोहित शर्मा को पहले टी20 फॉर्मेट की जिम्मेदारी सौंपी गई थी, लेकिन 8 दिसंबर को बीसीसीआई ने रोहित शर्मा को वनडे टीम का कप्तान बनाने का ऐलान कर दिया. अपनी कप्तानी में आईपीएल फ्रेंचाइजी मुबई इंडियंस को रिकॉर्ड 5 बार खिताब जिता चुके रोहित शर्मा का मानना है कि कप्तान का अधिकांश काम रणनीति बनाना रहता है.Also Read - Virat Kohli ने फोन पर दी थी Sourav Ganguly को जानकारी, किसी ने 'दोबारा विचार' करने को नहीं कहा!

रोहित शर्मा यूट्यूब पर ‘बैकस्टेज विद बोरिया’ कार्यक्रम में कहा, ‘‘उनके (विराट कोहली) जैसा बल्लेबाज टीम को हमेशा चाहिए. टी20 प्रारूप में 50 से अधिक का औसत अवास्तविक और जबरदस्त है. वह कई बार भारत को संकट से बाहर निकाल चुके हैं. कप्तान का काम यह सुनिश्चित करना होता है कि सही खिलाड़ी खेल रहे हैं. सही संयोजन है और कुछ तकनीकी बातों को ध्यान में रखना होता है.’’ Also Read - Virat Kohli को दूसरी बार कप्तानी से हटाए जाने का खतरा था... Sunil Gavaskar का बड़ा बयान

Also Read - Virat Kohli के नाम Ravichandran Ashwin का ट्वीट, लिखी दिल को छूने वाली बात

रोहित शर्मा के मुताबिक टीम प्रबंधन ने मजबूत टीम तैयार की है और इस प्रदर्शन में उनकी भूमिका कम है. उन्होंने कहा कि वह बता नहीं सकते कि पिछले तीन आईसीसी टूर्नामेंटों (2017 चैंपियंस ट्रॉफी फाइनल, 2019 विश्व कप सेमीफाइनल और इस साल टी20 विश्व कप) में गलती कहां हुई.

रोहित शर्मा ने कहा, ‘‘हम शुरुआती चरण में हार गए. मैं चाहता हूं कि हम तीन विकेट पर दस रन जैसे हालात के लिए भी तैयार रहें. उसके बाद के बल्लेबाजों को तैयार रहना चाहिए. यही कहीं नहीं लिखा है कि तीन विकेट 10 रन पर गंवाने के बाद हम 190 रन नहीं बना सकते.’’