दुनिया भर के पूर्व नामचीन क्रिकेटर एक बार फिर मैदान पर अपना जलवा दिखाने को तैयार हैं. ये सभी खिलाड़ी लीजेंड्स लीग क्रिकेट (LLC) के तहत खेलते दिखाई देंगे, इनमें से कई खिलाड़ी ऐसे हैं, जो अभी हाल ही तक इंटरनेशनल क्रिकेट का हिस्सा रहे हैं और उन्होंने कुछ महीनों पहले ही अपने संन्यास की घोषणा की है. इस लीग में तीन टीमें हैं, जो भारत, एशिया और विश्व स्तर पर बनी हैं. भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंदर सहवाग (Virender Sehwag) इंडियन महाराज की कप्तानी करते दिखाई देंगे.Also Read - भारत का आयरलैंड दौरा: VVS लक्ष्मण निभाएंगे टीम इंडिया के कोच की जिम्मेदारी, राहुल द्रविड़ का क्या!

सहवाग ने इससे पहले कुछ मौकों पर भारतीय टीम में कार्यवाहक कप्तान की भूमिका निभाई है, जबकि आईपीएल में उन्होंने दिल्ली डेयरडेविल्स और पंजाब किंग्स (PBKS) की भी कप्तानी की है. उनकी इस टीम में मोहम्मद कैफ (Mohammed Kaif) को उपकप्तान बनाया गया है, जबकि ऑस्ट्रेलिया के विश्व कप विजेता कोच जॉन बुकानन कोच की भूमिका में नजर आएंगे. Also Read - शोएब अख्तर जानते थे कि वह अपनी कोहनी को मोड़ते हैं और चकिंग भी करते हैं: Virender Sehwag

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान मिस्बाह उल हक (Misbah Ul Haq) एशिया लॉयन्स टीम की अगुवाई करेंगे. इस टीम में पाकिस्तान, श्रीलंका, बांग्लादेश और अफगानिस्तान के खिलाड़ी शामिल हैं. Also Read - 2003 विश्व कप से लेकर 'मंकीगेट' तक, एंड्रयू साइमंड्स के करियर के यादगार पल

इस टीम में शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi), शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar), मोहम्मद हफीज (Mohammad Hafeez), उमर गुल (Umar Gul), सनथ जयसूर्या (Sanath Jayasurya), तिलकरत्ने दिलशान (Tilakratne Dilshan), चमिंडा वास (Chaminda Vaas) और हबीबुल बशर जैसे खिलाड़ी हैं.

एशिया लॉयन्स ने दिलशान को उपकप्तान, जबकि 1996 आईसीसी वर्ल्ड कप विजेता कप्तान अर्जुन रणतुंगा कोच नियुक्त किया है. टूर्नामेंट की तीसरी टीम ‘वर्ल्ड जायंट्स’ की अगुवाई वेस्टइंडीज के पूर्व कप्तान डेरेन सैमी करेंगे. इस टीम में न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान डेनियल विटोरी, ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज ब्रेट ली, इंग्लैंड के केविन पीटरसन, साउथ अफ्रीका के स्पिनर इमरान ताहिर होंगे. साउथ अफ्रीका के पूर्व बल्लेबाज जोंटी रोड्स वर्ल्ड जायंट्स टीम के खिलाड़ी सहमेंटॉर होंगे.

एलएलसी टी20 टूर्नामेंट के आयुक्त (कमिश्नर) रवि शास्त्री ने कहा, ‘ये खिलाड़ी संन्यास ले चुके हैं लेकिन फिर भी ये क्रिकेट को लेकर काफी जुनूनी हैं. मुझे यकीन है कि वे अगले 10 दिनों में अपनी टीमों के लिए अपना अतिरिक्त कौशल दिखाएंगे.’

(इनपुट: भाषा)