भारत और बांग्लादेश के बीच हैदराबाद के राजीव गांधी क्रिकेट स्टेडियम में खेले जा रहे सीरीज के एकमात्र टेस्ट मैच में टीम इंडिया ने अपनी पकड़ काफी मजबूत कर ली है। 17 साल में पहली बार भारतीय धरती पर टेस्ट मैच खेलने आई बांग्लादेश टीम को यह अंदाजा हो गया होगा कि वास्तव में टेस्ट क्रिकेट में ही असली ‘टेस्ट’ होता है। मैच के पहले दिन जहां ओपनर मुरली विजय ने सैकड़ा ठोका, वहीं दूसरे दिन कप्तान विराट कोहली ने रिकॉर्डतोड़ पारी खेली, जबकि चोट के बाद वापसी कर रहे विकेटकीपर बल्लेबाज ऋद्धिमान साहा ने शतक भी लगाया। तीसरे दिन का खेल जारी है।Also Read - AUSW vs INDW Warm-Up Match: Rachael Haynes ने जड़ा अर्धशतक, ऑस्ट्रेलिया ने भारत को हराया

टीम इंडिया की ओर से पहली पारी में बनाए गए 687 रन (पारी घोषित) के जवाब में बांग्लादेश ने लंच के बाद 4 विकेट पर 155 रन बना लिए हैं। शाकिब अल हसन (51) और मुशफिकुर रहीम (14) क्रीज पर हैं। शाकिब ने तेजी से बल्लेबाजी करते हुए 69 गेंदों में 10 चौकों के साथ करियर की 21वीं फिफ्टी बनाई। Also Read - हैदराबाद में छह वर्षीय बच्ची के बलात्कार और हत्या के आरोपी ने की खुदकुशी, रेल पटरी पर मिली मृत

टीम इंडिया को पहली सफलता उमेश यादव ने सौम्य सरकार (15) के रूप में दिलाई, जबकि तमीम इकबाल 24 रन पर रनआउट हो गए। इसके बाद उमेश यादव ने मोमिनुल हक को 12 रन पर पगबाधा आउट कर दिया। आज सबकी नजरें आर अश्विन पर हैं, जो एक नए वर्ल्ड रिकॉर्ड की दहलीज पर हैं, लेकिन फिलहाल उन्हें कोई भी विकेट नहीं मिला है। टीम इंडिया की ओर से उमेश यादव ने दो विकेट, तो ईशांत शर्मा ने एक विकेट लिया है, जबकि एक खिलाड़ी रनआउट हुआ।
यह भी पढ़ें: INDvsBAN: भारत ने सिर्फ दो दिन में बनाए  इतने सारे रिकॉर्ड्स Also Read - JEE Main results 2021: जेईई मेन परीक्षा का रिजल्ट जारी, 44 उम्मीदवारों को मिला 100 परसेंटाइल, देखें टॉपर्स की लिस्ट

उमेश ने आउटस्विंग से मोमीनुल और महमूदुल्लाह को लगातार परेशान किया। उनकी एक इनस्विंगर महमूदुल्लाह के पैड पर लगी लेकिन अंपायर ने नाटआउट करार दिया। भारत ने डीआरएस लिया लेकिन लेग स्टंप पर गेंद टकराने के बावजूद अंपायर का फैसला कायम रहा। उमेश निराश नहीं हुए और उन्होंने बायें हाथ के बल्लेबाज मोमीनुल को पगबाधा कर दिया।

महमूदुल्लाह और साकिब ने चौथे विकेट के लिए 45 रन जोड़े लेकिन इस दौरान दोनों ही सहज नहीं थे। कोहली ने उमेश और रविंद्र जडेजा के आराम देते हुए इशांत 38 रन पर एक विकेट और अश्विन को गेंदबाजी सौंपी।

इशांत ने कप्तान को निराश नहीं करते हुए महमूदुल्लाह को पगबाधा किया। बल्लेबाज ने डीआरएस का सहारा लिया लेकिन फैसला गेंदबाज के पक्ष में रहा। भारत ने हालांकि अपना दूसरा डीआरएस भी गंवाया जब अश्विन ने साकिब के खिलाफ पगबाधा का रैफरल लिया लेकिन बल्लेबाज आउट नहीं था।