बॉल टैंपरिंग विवाद (Ball Tampering Row) के बाद पहली बार ऑस्‍ट्रेलियाई टीम साउथ अफ्रीका (South Africa vs Australia) दौरे के लिए पूरी तरह से तैयार है. टीम के साथ पूर्व कप्‍तान स्‍टीव स्मिथ (Steve Smith) और पूर्व उपकप्‍तान डेविड वार्नर (David Warner) भी होंगे. फैन्‍स द्वारा दोनों के साथ गलत व्‍यवहार किए जाने की संभावनाओं को देखते हुए क्रिकेट साउथ अफ्रीका (CSA) की तरफ से पहले ही यह साफ कर दिया गया है कि गलत व्‍यवहार करने वाले फैन्‍स के साथ सख्‍ती से निपटा जाएगा. 21 फरवरी से शुरू हो रही सीरीज में तीन टी20 और तीन वनडे मुकाबले खेले जाने हैं. Also Read - Brad Haddin का खुलासा, कप्तानी से हटाने पर जानिए कैसा था David Warner का रिएक्शन?

साल 2018 में ऑस्‍ट्रेलिया की टीम का साउथ अफ्रीका दौरा पूरी तरह से विवादों में रहा था. पहले क्विंटन डी कॉक (Quinton de Kock) द्वारा डेविड वार्नर की पत्‍नी को लेकर कहे गए अपशब्‍दों के कारण खिलाड़ियों के बीच विवाद पैदा हो गया था. बाद में स्मिथ-वार्नर द्वारा बॉल से छेड़छाड़ का मामला सामने आने के बाद क्रिकेट ऑस्‍ट्रेलिया ने दोनों पर एक-एक साल का प्रतिबंध लगा दिया था. Also Read - रविवार को अपने वतन लौट सकते हैं आईपीएल में हिस्सा लेने आए ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी

क्रिकेट साउथ अफ्रीका के कार्यकारी चीफ जैक फॉल ने कहा, “मैं साउथ अफ्रीका के क्रिकेट फैन्‍स से ये अनुरोध करना चाहूंगा कि वो विरोधी टीम का सम्‍मान करें. किसी खिलाड़ी के साथ गलत तरह का व्‍यवहार न करें. किसी भी खेल में गलत तरह के व्‍यवहार की कोई जगह नहीं है. फैन्‍स के गलत व्‍यवहार को लेकर हमारे नियम बेहद कठोर हैं. हम ऐसे लोगों को बाहर निकाल देंगे.” Also Read - वार्नर-विलियमसन ने जमकर खेली थी बास्‍केट बॉल, बेहद सटीक हैं इनका निशाना, SRH ने शेयर किया VIDEO

उन्‍होंने कहा, “पिछली बार साउथ अफ्रीका के फैन्‍स का व्‍यवहार बेहद दुर्भाग्‍यपूर्ण था. हमारे लिए यह काफी शर्मिंदगी भरा था. अगर उस गलती को सुधारने के लिए कोई सही प्रक्रिया हो सकती हे तो हम उसे लागू करने का प्रयास करेंगे.”

पढ़ें:- IND vs NZXI: शमी की तेजी के सामने पस्‍त हुए कीवी बल्‍लेबाज, बुमराह-सैनी-उमेश का भी चला जादू

बता दें कि पिछले साल इंग्‍लैंड के ऑलराउंडर बेन स्‍टोक्‍स ने भी फैन्‍स द्वारा उन्‍हें फील्‍ड पर बार-बार गाली दिए जाने की बात कही थी. स्‍टोक्‍स द्वारा गाली का जवाब गाली से देने पर आईसीसी ने उनपर जुर्माना भी लगाया था.