घरेलू क्रिकेट में मध्यप्रदेश की ओर से खेलने वाले 22 वर्षीय क्रिकेटर आर्यमन बिड़ला मानसिक स्वास्थ्य का हवाला देते हुए क्रिकेट से अनिश्चितकाल के लिए ब्रेक पर चले गए हैं.

INDvWI: रोहित शर्मा के पास सनथ जयसूर्या का 22 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ने का आखिरी मौका

देश के प्रमुख व्यवसायियों में शुमार कुमार मंगलम बिड़ला के बेटे आर्यमन ने आईपीएल के पिछले सीजन में राजस्थान रॉयल्स के सदस्य रहे थे. आर्यमन ने शुक्रवार रात को सोशल मीडिया पर इसका ऐलान किया.

राहुल द्रविड़ के बेटे समित ने ठोकी डबल सेंचुरी, गेंदबाजी में भी मचाया कोहराम

उन्होंने एक बयान में कहा ,‘यह कड़ी मेहनत, समर्पण और साहस भरा सफर रहा जो मैं यहां तक पहुंचा. खेल से जुड़ी चिंताओं से निपटना अब थोड़ा मुश्किल हो रहा है.’ आर्यमन ने कहा कि उन्होंने अब तक खेलने की कोशिश की लेकिन अब मानसिक स्वास्थ्य का मसला अहम हो गया है.


2017 में रणजी से जुड़े आर्यमन

मध्यप्रदेश के लिए जूनियर वर्ग में खेलने वाले बिड़ला 2017 में रणजी सीनियर टीम से जुड़े. उन्होंने 9 प्रथम श्रेणी मैच और चार लिस्ट ए मैच खेले.

सीके नायडू ट्रॉफी में 3 शतक की मदद से 602 रन बनाए

आर्यमन ने सीके नायडू ट्रॉफी में 3 शतक समेत 602 रन बनाए हैं. वह 2018 से 2020 तक दो सत्र में राजस्थान रॉयल्स का हिस्सा रहे लेकिन कोई मैच नहीं खेल सके.

मैक्सवेल ने हाल में ‘मेंटल ब्रेक’ से की है क्रिकेट में वापसी

यह पहला मौका नहीं है जब किसी खिलाड़ी ने इस तरह से ब्रेक लिया हो बल्कि इससे पहले ऑस्ट्रेलिया के स्टार ऑलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल, निक मेडिनसन और विल पुकोवस्की ने भी मानसिक स्वास्थ्य कारणों का हवाला देकर ब्रेक पर जा चुके हैं.

राजस्थान ने 10 लाख में खरीदा था 

आर्यमन को राजस्थान रॉयल्स ने जनवरी 2018 में आईपीएल नीलामी में 10 लाख रुपये की बेस प्राइस पर खरीदा था, लेकिन उन्‍हें कोई मैच नहीं खिलाया गया था. इस साल की नीलामी से पहले ही फ्रेंचाइजी ने उन्हें रिलीज कर दिया था.