नई दिल्लीः भारत के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने मंगलवार को युवा जलवायु कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग को प्रेरणादाई बताया है. बता दें कि स्वीडन की इस किशोरी ने संयुक्त राष्ट्र जलवायु सम्मेलन में वैश्विक नेताओं को जलवायु परिवर्तन से निपटने में नाकाम रहने पर फटकार लगाई थी. थनबर्ग के यूएन में दिए गए भाषण की दुनिया भर के शीर्ष देशों ने जमकर तारीफ भी की और पर्यावरण के प्रति उसके प्रयासो की सराहना भी की.

धवन का विकेट लेने के बाद तबरेज शम्सी ने उतारा जूता और फिर इस अनोखे अंदाज में किया सेलिब्रेट

सोमवार को न्यूयार्क में संयुक्त राष्ट्र जलवायु सम्मेलन को संबोधित करते हुए 16 साल की थनबर्ग ने वैश्विक नेताओं पर ग्रीन हाउस गैसों के उत्सर्जन से निपटने में नाकाम हो कर उनकी पीढ़ी से विश्वासघात करने का आरोप लगाया था. रोहित ने ट्विटर के जरिए वैश्विक नेताओं से अपील की कि वे कुछ कदम उठाएं. रोहित ने ट्वीट किया, ‘‘अपने ग्रह को बचाने की जिम्मेदारी अपने बच्चों पर छोड़ना बेहद अनुचित है. ग्रेटा थनबर्ग, आप प्रेरणा हो. अब कोई बहाना नहीं है. भविष्य की पीढ़ियों को हमें सुरक्षित ग्रह देना होगा. बदलाव का समय अब है.’’

अभी तो जोफ्रा आर्चर की झलक देखी है उसका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन आना बाकी है : मोर्गन

स्वीडन की थनबर्ग जलवायु परिवर्तन के खिलाफ लगातार बढ़ रहे युवा आंदोलन का वैश्विक चेहरा बनती जा रही हैं. अपने भाषण के दौरान उन्होंने कहा ग्रेटा कहा, “आपने हमारे सपने, हमारा बचपन अपने खोखले शब्दों से छीना. हालांकि, मैं अभी भी भाग्यशाली हूं. लेकिन लोग झेल रहे हैं, मर रहे हैं, पूरा ईको सिस्टम बर्बाद हो रहा है.” अपने संबोधन के दौरान ग्रेटा भावुक हो गई और कहा, “आपने हमें असफल कर दिया. युवा समझते हैं कि आपने हमें छला है.