पुर्तगाल के स्टार फुटबालर क्रिस्टियानो रोनाल्डो के होटलों में से एक होटल ने उन खबरों का खंडन किया है, जिसमें कहा गया था कि कोरानावायरस के खतरों से निपटने और इससे पीड़ित लोगों की मदद करने के लिए रोनाल्डो अपने होटलों को अस्पतालों में बदलने जा रहे हैं। Also Read - Covid-19 : भारत में कोरोना के 1 हजार मामले, घर जाने को बेताब प्रवासी मजदूर, यूरोप में लगा लाशों का ढेर

स्पेनिश अखबार मार्का ने कहा था कि रोनाल्डो ने अपने दो होटलों में से एक होटल को अस्पताल में बदलने का फैसला किया है, जिसमें कि कोरोनावायरस से पीड़ित लोगों की मदद की जा सके। हालांकि लिस्बन में स्थित होटल के स्टाफ ने कहा है कि होटलों को अस्पताल में बदलने की किसी भी योजना से वे अवगत नहीं है। Also Read - Covid-19: तेलंगाना में कोरोना वायरस से पहली मौत, 6 नए मामले

गोल डॉट कॉम ने होटल के एक प्रवक्ता के हवाले से कहा, “ये एक होटल है और ये अस्पताल बनने नहीं जा रहा है। ये प्रतिदिन एक जैसा ही है और ये होटल ही बना रहेगा। हमें प्रेस की ओर से फोन भी आया था। मैं उनके अच्छे दिन की कामना करता हूं।” Also Read - Covid-19: BCCI ने प्रधानमंत्री के आपदा प्रबंधन राहत कोष में दिए 51 करोड़ रूपये

धमाकेदार शतक लगा लाहौर को सेमीफाइनल में पहुंचाने के बाद कोरोना के डर से स्वदेश लौटे क्रिस लिन

पुर्तगाल में कोरोनावायरस के अब तक 200 से अधिक मामलों की पुष्टि हो चुकी है। इससे पहले, स्पेन स्थित मार्का डेली ने कहा था कि रियल मेड्रिड के पूर्व खिलाड़ी रोनाल्डो अस्पतालों में कोरोनावायरस से पीड़ित लोगों की हरसंभव मदद मुहैया कराएंगे।

रोनाल्डो के जुवेंतस टीम साथी खिलाड़ी डिफेंडर डेनिएल रुगानी भी कोरोनावायरस की चपेट में हैं। डिफेंडर डेनिएल रुगानी की रोपोर्ट पॉजिटिव आई है और रोनाल्डो ने उन्हें भी अपना हरसंभव मदद देने का भरोया दिया है।

रोनाल्डो ने कहा था, “इस समय पूरी दुनिया बहुत मुश्किल दौर से गुजर रही है और ये हम सब से देखभाल और ध्यान की मांग करती है। मैं आज आपसे ये बातें एक फुटबाल खिलाड़ी के रूप में नहीं, बल्कि एक बेटे, पिता और एक ऐसे इंसान के रूप में बोल रहा हूं, जो कि खुद भी इस तरह की चीजों से प्रभावित है।”

कोविड-19 टेस्ट रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद स्वदेश पहुंच राहत की सांस ले रहा ये कीवी गेंदबाज

रोनाल्डो ने आगे लिखा, “ये जरूरी है कि हम सब डब्ल्यूएचओ की सलाह को मानें कि कैसे हमें इस स्थिति को रोकना है। किसी भी चीज से ज्यादा मानव जीवन की सुरक्षा महत्वपूर्ण है। मैं उन सभी को अपनी संवेदनाएं भेजना चाहता हूं, जिन्होंने अपने करीबियों को इस बीमारी में खोया है। मैं उन लोगों के साथ खड़ा हूं, जो इस संक्रमण से लड़ रहे हैं।”