पुणे: आईपीएल के 27वें मैच में मुंबई के खिलाफ चेन्‍नई ने 20 ओवर में पांच विकेट खोकर 169 रन बनाए. सुरेश रैना की 75 और अंबाति रायुडू की 46 रनों की उपयोगी पारियों के दम पर चेन्‍नई इस चुनौतीपूर्ण स्‍कोर तक पहुंची.Also Read - इंग्लैंड के बल्लेबाजों पर भारी पड़ेगा भारतीय गेंदबाजी अटैक: उमेश यादव

Also Read - युजवेंद्र चहल को यकीन- इंग्लैंड के खिलाफ भारत को जीत दिलाएंगे विराट कोहली

हालांकि, टॉस हारकर पहले बल्‍लेबाजी के लिए चेन्‍नई की टीम एक समय पर 200 से ज्‍यादा के स्‍कोर की ओर बढ़ रही थी, लेकिन अंतिम 10 ओवरों में उसके बल्‍लेबाज तेजी से रन नहीं बना पाए. टीम की शुरुआत कुछ खास नहीं रही थी. रायुडू और शेन वाटसन ने 4.2 ओवर में 26 रन जोड़े थे, जब कृणाल पांड्या ने मुंबई को पहली सफलता दिलाई. वाटसन 12 रन बनाकर आउट हुए. इसके बाद रैना और रायुडू ने तेजी से रन बनाना शुरू किया और 10 ओवर की समाप्ति तक चेन्‍नई का स्‍कोर 91 रन पहुंच चुका था और उसके नौ विकेट भारी थे. Also Read - खिलाड़ियों का मानसिक स्वास्थ्य के बारे में बात करना सकारात्मक चीज है: जेम्स एंडरसन

IPL 2018: सुपर मुकाबले में जीत सकती है मुंबई, करने होंगे ये पांच काम

12वें ओवर में कृणाल ने ही रायुडू को आउट कर इस साझेदारी को तोड़ा. रायुडू ने 35 गेंद में 46 रन बनाए. इसके बाद कप्‍तान महेंद्र सिंह धोनी ने आते ही मयंक मार्कंडे की गेंद पर एक चौका और एक छक्‍का लगाकर अपने इरादे स्‍पष्‍ट कर दिए , लेकिन उनकी पारी भी ज्‍यादा लंबी नहीं खिंच सकी. 18वें ओवर में मिशेल मैक्‍लेघन ने दो विकेट लेकर चेन्‍नई के बड़े स्‍कोर की उम्‍मीदों को तोड़ दिया. पहली गेंद पर उन्‍होंने धोनी को आउट किया और फिर तीसरी गेंद पर ड्वेन ब्रावो को वापस पवेलियन भेजा. दूसरे छोर पर सुरेश रैना ने अपना अर्धशतक पूरा करने के बाद अंतिम ओवर्स में हाथ खोले. 20वें ओवर की अंतिम गेंद पर छक्‍का लगाकर उन्‍होंने पारी का अंत किया. रैना 47 गेंद पर 75 रनों की बेहतरीन पारी खेली. अपनी पारी में उन्‍होंने छह चौके और चार छक्‍के लगाए.

कप्तानी छोड़ते ही क्यों टीम से बाहर हो गए गौतम गंभीर, अब हुआ खुलासा

मुंबई के लिए मैक्‍लेधन और कृणाल पांड्या ने दो-दो विकेट लिए. एक विकेट हार्दिक पांड्या को मिला.