टीम इंडिया के पूर्व कप्तान एमएस धोनी (MS Dhoni) का इस साल आईपीएल में प्रदर्शन फीका क्या साबित हुआ कि उन्हें अब टीम से ही बाहर करने की मांग उठने लगी है. इस सीजन न तो धोनी अपने बल्ले से कोई कमाल दिखा पाए और न ही कैप्टन कूल अपनी कप्तानी जलवा दिखा पाए. धोनी की टीम इस बार आईपीएल में प्लेऑफ से पहले ही बाहर हो गई. Also Read - IND vs AUS: क्‍या आप जानते हैं Team India New Jersey पर तीन स्‍टार का क्‍या है मतलब ?

यह पहला मौका है, जब सीएसके प्लेऑफ में क्वॉलीफाई नहीं कर पाई है. इस बीच अब आईपीएल 2021 की रणनीतियां बननी शुरू हो गई हैं और पूर्व टेस्ट ओपनर आकाश चोपड़ा (Aakash Chopra) ने चेन्नई सुपरकिंग्स (CSK) को सलाह दी है कि वह इस बार धोनी को टीम में रिटेन न रखे और नीलामी में उतरने दे. Also Read - India vs Australia: IPL में फ्लॉप रही थी कंगारू तिकड़ी, ऑस्ट्रेलिया आते ही बजाया डंका

चोपड़ा ने कहा कि अगर आईपीएल 2021 (IPL 2021) से पहले इस बार नीलामी का आयोजन होता है तो येलो आर्मी को इस बार अपने तुरुप के इक्के रहे धोनी को नीलामी में जाने देना चाहिए. उन्होंने कहा कि अगर सीएसके धोनी को नीलामी में नहीं उतारती है तो उसे अपने बजट का 15 करोड़ धोनी पर खर्च करना होगा, जो काफी बड़ा अमाउंट है. Also Read - WATCH: दुबई में मस्ती कर रहा है धोनी परिवार; पत्नी साक्षी और बेटी जीवा के साथ नाचते दिखे माही

इस पूर्व ओपनर को लगता है कि अगर धोनी पर इतनी बड़ी रकम खर्च होगी तो फिर सीएसके को अपनी मजबूत टीम बनाने में कई चीजों से समझौता करना पड़ेगा. बता दें कि धोनी ने इस सीजन 14 मैच की 12 पारियों में सिर्फ 200 रन ही बनाए, जो आईपीएल में उनका सबसे कमजोर प्रदर्शन है.

43 वर्षीय चोपड़ा ने कहा, ‘सीएसके को धोनी को ऑक्शन में जाने देना चाहिए और फिर अपने कप्तान को ‘राइट टू मैच’ (RTM) कार्ड का इस्तेमाल कर वापस ले आना चाहिए.’ इससे उनके पास अच्छा खासा पैसा बचेगा, जिसे वह अपनी रणनीतियों के अनुसार कुछ और खिलाड़ियों को खरीदने में खर्च कर सकती है.’

10 टेस्ट खेल चुके इस पूर्व खिलाड़ी ने कहा, ‘मेरा मानना है कि अगर इस सीजन आईपीएल 2021 के लिए मैगा ऑक्शन होता है तो सीएसके धोनी को नीलामी के लिए छोड़ना चाहिए. इससे सीएसके की टीम कमजोर नहीं बल्कि मजबूत होगी क्योंकि वह धोनी को छोड़कर RTM से वापस लाएगी, जो इससे टीम के बजट में सुधार होगा.’