नई दिल्ली: न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान डेनियल विटोरी का मानना है कि भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कलाई के स्पिनर युजवेंद्र चहल में काफी आत्मविश्वास भरा है जो वनडे क्रिकेट में उसकी अप्रतिम सफलता की कुंजी बना. विटोरी आईपीएल टीम रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूर के कोच है जिसके कप्तान कोहली हैं.

चहल दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज में तीन मैचों में 11 विकेट ले चुके हैं. विटोरी ने सेंट मौरित्ज आइस क्रिकेट से इतर कहा, ”’युजवेंद्र साहसिक गेंदबाज है और यह आसान नहीं होता जब आप चिन्नास्वामी जैसे बल्लेबाजों के मददगार छोटे मैदान पर इतने आईपीएल मैच खेले हों.” उन्होंने कहा, ”इसके बावजूद वह बल्लेबाजों पर आक्रमण के लिये तैयार है और विराट ने आरसीबी में तथा अब भारतीय टीम में रहते उसमें यह आक्रामकता भरी है. इसका फायदा अब मिल रहा है.”

शुरुआती तीन वनडे हारी द.अफ्रीका, पूर्व खिलाड़ी ने पूरी टीम को लताड़ा

कोहली की कप्तानी के बारे में काफी कुछ कहा जा चुका है और विटोरी ने कहा कि उसके बारे में सबसे अच्छी बात यह है कि वह सुनने को तत्पर रहता है. उन्होंने कहा, ”विराट के साथ आरसीबी के लिये काम करते समय मैने देखा कि उसके बारे में सबसे अच्छी बात यह है कि वह सुनने और सीखने को तत्पर रहता है.” विटोरी ने कहा, ”मुझे उसके दोनों पहलू पसंद है. आक्रामकता और छटपटाहट जो वह मैदान पर दिखाता है और मैदान से बाहर जो वह सीखने की कोशिश करता है.”

बता दें कि भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेले गए सीरीज के शुरुआती वनडे मुकाबलों में भारत ने जीत हासिल की, जिसमें युजवेन्द्र चहल ने बेहतरीन गेंदबाजी की. उन्होंने पहले वनडे में 2 विकेट, दूसरे वनडे में 5 विकेट और तीसरे मुकाबले में 4 विकेट अपने नाम किए. चहल ने अफ्रीकी टीम के कई दिग्गज खिलाड़ियों का विकेट झटका. इसमें जेपी डुमिनी, हेनरिक क्लासेन और क्विंटन डीकॉक शामिल हैं. चहल ने डुमिनी को इस सीरीज में अब तक दो बार आउट किया.