बॉल टैंपरिंग पर ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट में उठा तूफान शांत होने का नाम नहीं ले रहा है. अब कोच डेरेन लीमैन भी अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. लेहमन ने कहा है कि वह द. अफ्रीका के खिलाफ चौथे और आखिरी टेस्ट के बाद इस्तीफा दे देंगे. डेरेन लीमैन ने कहा है कि दक्षिण अफ्रीका में गेंद से छेड़छाड़ प्रकरण के भावनात्मक तनाव को देखते हुए वह मेजबान टीम के खिलाफ अंतिम टेस्ट के बाद अपना पद छोड़ देंगे. लीमैन ने कहा है कि तीसरे टेस्ट में धोखाधड़ी की बात स्वीकार करने के बाद स्टीव स्मिथ और कैमरन बेनक्राफ्ट के स्वदेश लौटने पर हुई प्रेस कांफ्रेंस देखने के बाद उन्होंने यह फैसला किया है. Also Read - लगातार चौथी जीत के बाद पंजाब के कप्तान राहुल ने कहा- जीत की आदत डाल रहे

Also Read - IPL 2020, RR vs MI, Preview: प्लेऑफ की उम्मीदें बचाने के लिए मुंबई के खिलाफ खेलेगी राजस्थान

लीमैन ने रोते हुए कहा कि पद छोड़ने का फैसला उनका अपना है और टीम को संकट में डालने वाले प्रकरण को देखते हुए उनके अधिकारियों ने उन्हें पद से नहीं हटाया है. कप्तान स्मिथ, उप कप्तान डेविड वॉर्नर और सलामी बल्लेबाज बेनक्राफ्ट तीनों पर प्रतिबंध लगाए गए हैं. जोहानिसबर्ग में अंतिम टेस्ट कल से खेला जाएगा. दक्षिण अफ्रीका चार टेस्ट की सीरीज में 2-1 से आगे चल रहा है. Also Read - जो रूट ने कोहली की तारीफ में पढ़े कसीदे, कहा-असाधारण प्रतिभा के धनी हैं कोहली

लीमैन को दी थी क्लीन चिट

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने बॉल टैंपरिंग में सख्त कदम उठाते हुए कप्तान स्टीव स्मिथ और उपकप्तान डेविड वॉर्नर पर एक साल का प्रतिबंध लगा दिया था लेकिन लीमैन को क्लीन चिट दे दी थी. आज क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने खुद इसका ऐलान करते हुए कहा कि लीमैन कोच पद छोड़ रहे हैं और बतौर ये उनका आखिरी टेस्ट होगा.

ऑस्ट्रेलिया के कोच डेरेन लीमैन ने बुधवार को कहा था कि वह इस्तीफा नहीं देंगे, टीम के माहौल को बदलेंगे. उन्होंने कहा, स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर ने गंभीर गलती की लेकिन उन्होंने लोगों से अपील की कि अधिक मानवीय रवैया अपनाएं क्योंकि वे बुरे लोग नहीं हैं. लीमैन ने कहा कि इससे जुड़े खिलाड़ियों को काफी गंभीर सजा दी गई है और उन्हें पता है कि उन्हें इसके नतीजों का सामना करना होगा. उन्होंने भयंकर गलती की लेकिन वे बुरे लोग नहीं हैं. कोच के रूप में मुझे उनके और उनके परिवार के लिए बुरा लग रहा है. मुझे लगता है कि इस पूरे प्रकरण में मीडिया और प्रशंसकों को यह नहीं भूलना चाहिए.

लीमैन ने कहा कि सभी को याद रखना चाहिए कि हम सभी अपने जीवन में गलती करते हैं. इसका मानवीय पहलू है. उन्होंने गलती की, जैसे सभी करते हैं, मैंने भी की हैं. वे युवा हैं और मैं उम्मीद करता हूं कि लोग उन्हें दूसरा मौका देंगे. उनका स्वास्थ्य हमारे लिए काफी महत्वपूर्ण है. हाल के समय में टीम को नकारात्मक तरीके से दिखाया गया और हमें अपने खेलने को लेकर कुछ चीजों में बदलाव की जरूरत है.

'हर कीमत पर जीत' के लीमैन के गुरुमंत्र ने किया ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट का बेड़ागर्क

'हर कीमत पर जीत' के लीमैन के गुरुमंत्र ने किया ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट का बेड़ागर्क

स्मिथ-वॉर्नर पर बैन

बता दें कि बॉल टैंपरिंग में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने स्मिथ और वॉर्नर पर एक साल जबकि बैनक्राफ्ट पर 9 महीने का बैन लगाया है. स्मिथ और वॉर्नर इस साल आईपीएल 11 और भारत दौरे पर भी नहीं खेल सकेंगे. इस मामले में दोनों से पहले ली कप्तानी और उपकप्तानी छीन ली गई थी. इसके बाद दोनों ने आईपीएल की अपनी अपनी टीमों की कप्तानी से भी इस्तीफा दे दिया था.

बॉल टैंपरिंग केस में उंगली डेरेन लीमैन पर भी उठी थी. लेकिन उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई. स्टीव स्मिथ ने प्रेस कांफ्रेंस के दौरान माना कि ये आइडिया उनका, डेविड वॉर्नर और बेनक्राफ्ट का था. इसमें कोच की कोई भूमिका नहीं है. जांच में भी लीमैन के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिला. लेकिन कई पूर्व क्रिकेटरों ने इसके लिए लीमैन को भी दोषी माना है और उन्हें भी हटाने की मांग की.

इस घटना के बाद स्मिथ, वार्नर और बेनक्रोफ्ट को दक्षिण अफ्रीका से स्वदेश भेज दिया गया है. उन्होंने गेंद से छेड़खानी का अपराध कबूल कर लिया था. मुख्य कोच डेरेन लीमैन को क्लीन चिट दी गई है. टिम पेन आखिरी टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के कप्तान होंगे जबकि मैट रेनशॉ, ग्लेन मैक्सवेल और जो बर्न्स को इनकी जगह भेजा गया है.