नई दिल्ली : आईसीसी विश्व कप-2019 के पहले तीन मैचों में वॉर्नर ने रन तो किए थे लेकिन वह अपनी सर्वश्रेष्ठ फॉर्म में नहीं दिख रहे थे, लेकिन पाकिस्तान के खिलाफ उन्होंने शतक जमा बताया कि वह किस स्तर के बल्लेबाज हैं. वॉर्नर बॉल टेम्परिंग विवाद के कारण एक साल के प्रतिबंध के बाद राष्ट्रीय टीम में वापसी कर रहे हैं और वापसी में उन्होंने बता दिया है कि वह अपने आप को साबित करने के लिए कितने भूखे हैं.

मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में वॉर्नर ने कहा, “यह जानते हुए कि मैं यहां खेल सकता हूं तब यहां आकर खेलना और बेहतर प्रदर्शन करने से मैं बेहद खुश हूं.”

उन्होंने कहा, “यह वो चीज थी जो मैं भारत के खिलाफ नहीं कर पाया था, मैं कई गेंदें को सीधे फील्डरों के हाथों में खेल रहा था. आप एक खिलाड़ी के तौर पर महसूस करते हैं कि आप लय में आ गए हैं, और मेरे साथ यही हुआ. लेकिन आज ऐसी विकेट थी जहां आप स्कोर करने की सोच रहे हैं तो आपको अपना डिफेंस मजबूत करना होगा और आप फिर अपने आप स्कोर करने के मौके बनाओगे.”

INDvsNZ: बारिश के बीच फैन्स के लिए खुशखबरी, अगर ऐसा हुआ टी-20 खेलेगी टीम इंडिया

वॉर्नर को इस विश्व कप में धीमी बल्लेबाज के लिए भी आलोचना का शिकार होना पड़ा है. अफगानिस्तान के खिलाफ उन्होंने 114 गेंदों पर 89 रन बनाए थे. वहीं, भारत के खिलाफ 84 गेंदों पर 56 रन बनाए. वॉर्नर ने कहा, “निजी तौर पर मेरे लिए यह अच्छी बात है. शतक काफी लंबे समय से इंतजार कर रहा था. अफगानिस्तान के खिलाफ मुझे लगा कि मैं लय में नहीं हूं. वेस्टइंडीज के खिलाफ मैं जल्दी