नई दिल्लीः एशेज श्रंखला का चौथा मैच खेला जा रहा है, लेकिन ऑस्ट्रेलियाई ओपनर बल्लेबाज डेविड वार्नर का निराशा जनक प्रदर्शन लगातार जारी है. मैनचेस्टर की दूसरी पारी में भी वार्नर शून्य पर आउट हो गए. इससे पहले वे पहली पारी में भी शून्य पर आउट हुए थे. तीसरे मैच की दूसरी पारी में भी वार्नर शून्य के स्कोर पर आउट हुए थे. तीनों ही बार उन्हें इंग्लैंड के तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्राड ने आउट किया. तीन पारियों में शून्य पर आउट होने की वे हैट्रिक लगा चुके हैं. किसी भी खिलाड़ी के लिए हैट्रिक लेना गर्व की बात होती है लेकिन यह ओपनर बल्लेबाज कभी भी इस हैट्रिक को दूबारा नहीं चाहेंगे.

21 साल की उम्र में अगर धोनी की जगह लेने के बारे में सोचूंगा तो बहुत मुश्किल हो जाएगी : पंत

आपको बता दें कि अभी तक एशेज श्रंखला में डेविड वार्नर पूरी तरह से फेल रहे हैं. चार मैचों की आठ पारियों में वे केवल एक अर्धशतकीय पारी खेल सके है. बॉल टेंपरिंग विवाद के बाद डेविड वार्नर और स्टीव स्मिथ दोनों की ही नेशनल टीम में वापसी हुई थी और उम्मीद जताई जा रही थी कि वार्नर एक शानदार वापसी करेंगे लेकिन ऐसा नहीं हो सका. वहीं दूसरी तरफ इस विवाद के बाद स्टीव स्मिथ ने बेहतरीन खेल दिखा है. स्टीव अभी तक श्रंखला में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी हैं. उन्होंने तीन मैचों में दो शतक और एक दोहरा शतक लगाया है.

अपने ‘हीरो’ सचिन की बैटिंग देखने को किसी भी दुकान की टीवी पर मैच देखते थे कोहली, बताए किस्से

डेविड वार्नर का रन न बना पाना ऑस्ट्रेलिया के प्वाइंट ऑफ व्यू से काफी निराशा जनक है. मैनचेस्टर की पहली पारी में वे ब्रॉड की गेंद पर कैच आउट हुए थे जबकि दूरी पारी में वे ब्रॉड की ही गेंद पर एलबीडब्ल्यू आउट हुए. पैरों में गेंद लगने के बाद वे नीचे झके और अंपायर की तरफ हांथ से इशारा भी किया लेकिन तब तक अंपायर की उंगली उठ चुकी थी. अंपायर का इशारा देख वे हंसने लगे लेकिन आपको बता दें वार्नर की यह सही शर्म वाली थी जो यह दिखा रही थी कि वे खुद अपने प्रदर्शन से निराश हैं.

चैलेंज देकर जब खुद ही मुश्किल में फंस गए थे अब्दुल कादिर, सचिन ने इतने छक्के मार दिया था जवाब

आपको बता दें कि आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 में डेविड वार्नर दूसरे सबसे अधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज थे. उनसे आगे रोहित शर्मा थे , लेकिन एशेज में आते ही वे अपनी फार्म पूरी तरह से खो बैठे हैं. एशेज में यह सातवी बार ऐसा मौका था जब वे दहाई के अंक को भी नहीं छू सके. स्टुअर्ट ब्रॉड ने छठी बार वार्नर को अपना शिकार बनाया