डेविड वार्नर ने पाकिस्‍तान के खिलाफ डे-नाइट टेस्‍ट में 335 रन की पारी खेली. वो टेस्‍ट क्रिकेट में सर्वाधिक रन बनाने वालों की सूची में ऑस्‍ट्रेलिया के लिए मैथ्‍यू हेडन के बाद दूसरे स्‍थान पर आ गए हैं. वार्नर जैसे विस्‍फोटक बल्‍लेबाज को खेल के छोटे प्रारूप में बेहद खतरनाक खिलाड़ी माना जाता है, लेकिन वीरेंद्र सहवाग ने पहले ही वार्नर को यह बता दिया था कि वो टेस्‍ट क्रिकेट के भी बेहद खतरनाक खिलाड़ी बनेंगे. Also Read - IND vs AUS: Mohammed Siraj का पहला 5 विकेट हॉल, देखें- तारीफ में क्या बोले सचिन, सहवाग और अन्य दिग्गज

Also Read - 4th Test: मोहम्‍मद सिराज के पांच विकेट हॉल से ऑस्‍ट्रेलिया 294 पर ऑलआउट, भारत को मिला 328 रनों का लक्ष्‍य

पढ़ें:- रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के नए सुपरस्टार बन सकते हैं देवदत्त पादिक्कल Also Read - वीरेंद्र सहवाग ने अपने ही अंदाज में की शार्दुल-सुंदर की तारीफ, वीवीएस ने कही ये बात

तिहरा शतक जड़ने के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए डेविड वार्नर ने खुद इस बात का खुलासा किया. वार्नर ने बताया ‘‘आईपीएल में दिल्ली के लिए खेलते हुए जब मैं वीरेंद्र सहवाग से मिला तो वह मेरे साथ बैठे और कहा कि मैं टी20 की तुलना में बेहतर टेस्ट खिलाड़ी बनूंगा. मैंने उन्हें कहा कि तुम कैसी बातें कर रहे हो, मैंने काफी प्रथम श्रेणी मैच भी नहीं खेले हैं.’’

पढ़ें:- टिम पेन के पारी घोषित करने से ‘लारा का रिकॉर्ड’ तोड़ने से चूके वार्नर ने दिया जवाब

डेविड वार्नर ने आगे बताया, ‘‘वह हमेशा कहते थे कि टीमें स्लिप और गली में फील्‍डर खड़ा करती हैं, कवर में जगह खाली होती है, मिडविकेट होता है. मिड ऑफ और मिड ऑन होते हैं, आप तेज शुरुआत कर सकते हो और पूरा दिन खेल सकते हो. यह बात हमेशा मेरे दिमाग में रही, जब हम बातें कर रहे थे तो ये चीजें काफी असमान्‍य लग रही थीं.’’

बता दें कि वीरेंद्र सहवाग भी वार्नर की तरफ ही एक विस्‍फोटक बल्‍लेबाज के तौर पर जाने जाते हैं. तेजी से रन बनाने की खासियत के बावजूद वीरेंद्र सहवाग भारत के सफल टेस्‍ट खिलाड़ी बने.