सिडनी: आस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर ने शुक्रवार को कहा कि स्लेजिंग को कम करन के लिए हाल के दिनों में आईसीसी द्वारा उठाए गए कदमों से क्रिकेट का रोमांच कम हुआ है। आईसीसी ने हाल के दिनों में कई बार क्रिकेट को सज्जन लोगों का खेल बनाने के लिए कवायद भी शुरू की है और कई बार इस बात को दोहराया भी है। वार्नर ने हालांकि हर बार स्लेजिंग को पूरी तरह खत्म करने के कदम का विरोध किया है। यह भी पढ़े:मशरफे मुर्तजा ने अपना फेसबुक पेज फिर से शुरू किया

यही कारण है कि व्यक्तिगत स्तर पर वार्नर बीते 18 महीनों में स्लेजिंग को लेकर दो मौकों पर जुर्माने का शिकार हुए हैं। एक बार मैदान के अंदर और एक बार मैदान के बाहर उन पर जुर्माना लगा है।

क्रिकेट डॉट कॉम डॉट एयू ने वार्नर से हवाले से लिखा है, “यह एक लिहाज से मेरी ओर से आईसीसी को अंतिम चेतावनी है। इस तरह के नियम बदले जाने चाहिए। किसी का विकेट लेकर गेंदबाज जश्न मनाते हुए उसकी ओर बढ़ नहीं सकता क्योंकि रेफरी उस पर जुर्माना लगा देगा। अगर यही सब चलता रहा तो फिर खिलाड़ियों को दूसरा रास्ता निकालना होगा।”

वार्नर का मानना है कि खेल के दौरान जब एक गेंदबाज बल्लेबाज को घूरता है तो उससे रोमांच आता है और दर्शक भी इसे पसंद करते हैं। मीडिया में भले ही इस तरह की घटनाओं को बढ़ा-चढ़ा कर पेश किया जाता हो लेकिन इनसे ही क्रिकेट में रोमांच बना हुआ है।

वार्नर ने कहा, “टीवी पर मैच देख रहा हर एक शख्स जानता है कि यह गलत नहीं है। यह गम्भीर बात भी नहीं है। इससे किसी पर कोई खतरा नहीं है। यह लोगों को मनोरंजन दे रहा है और ऐसे में इस तरह की घटनाएं बंद हो गईं तो इससे क्रिकेट नीरस हो जाएगा।”