नई दिल्ली: दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) के सदस्यों ने प्रशासकों की समिति (सीओए) से फिर से चुनाव कराने का अनुरोध किया है. रिपोर्ट के अनुसार, सदस्यों ने कहा है कि पिछला चुनाव सीओए द्वारा किया गया था जो कि बीसीसीआई के नए पंजीकृत संविधान के तहत नहीं था. एक सदस्य ने कहा, “डीडीसीए का पिछला चुनाव नौ अगस्त 2018 और बीसीसीआई के नए संविधान के पंजीकृत होने से पहले हुआ था. डीडीसीए का चुनाव प्रक्रिया बीसीसीआई के नए संविधान के तहत नहीं था. यह डीडीसीए के पुराना संविधान के तहत किया गया था.”Also Read - Official CSK IPL 2022 Retention List: धोनी से ज्‍यादा राशि में रिटेन हुए रवींद्र जडेजा, यहां देखें चेन्‍नई की लिस्‍ट

Also Read - IPL Retained Players List 2022: Virat Kohli और MS Dhoni हुए रिटेन, यहां है पूरी लिस्ट | Watch Video

डीडीसीए ने बीसीसीआई एजीएम में अध्यक्ष रजत शर्मा को बनाया अपना प्रतिनिधि Also Read - IND vs SA Test: साउथ अफ्रीका ने दौरा रद्द होने से बचाने के लिए याद दिलाए पुराने संबंध, विदेश मंत्रालय ने जारी किया बयान

एक अन्य सदस्य ने कहा कि पुराने संविधान के नियमों के अनुसार चुनाव कैसे हुए? उन्होंने कहा कि पुराने संविधान के अनुसार कराए गए चुनाव में कुछ प्रमुख क्षेत्रों में चूक हुई है. उन्होंने कहा, “डीडीसीए में शीर्ष परिषद का कोई प्रावधान नहीं था. यहां पुरुष और महिला क्रिकेट संघ के प्रतिनिधियों के लिए भी कोई प्रावधान नहीं था. शीर्ष परिषद के लिए एक भी निदेशक नहीं था. कार्यकारी निदेशक का गठन नौ निदेशकों के बजाय 16 निदेशकों के साथ किया गया था जिसका कि बीसीसीआई के नए संविधान में उल्लेख किया गया है.”

एक सदस्य ने सीओए से फिर से चुनाव से कराने का अनुरोध करते हुए कहा, “आप डीडीसीए को एक चुनाव अधिकारी नियुक्त करने का आदेश दें और सुप्रीम कोर्ट द्वारा जारी नए संविधान के तहत नए चुनाव कराने को भी कहें.”

डीडीसीए के निदेशकों ने की थी संघ की शिकायत, अब अध्यक्ष रजत शर्मा से मांग रहे हैं जवाब