भारतीय टीम के मुख्‍य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद का कहना है कि तेज गेंदबाज दीपक चाहर अगले साल मार्च-अप्रैल से पहले पूरी तरह से फिट नहीं हो पाएंगे.

दीपक चाहर को विशाखापत्‍तनम टेस्‍ट के दौरान बैक इंजरी हुई थी, जिसके चलते उन्‍हें वेस्‍टइंडीज के खिलाफ कटक में खेले गए अंतिम वनडे से आराम दिया गया था. उन्‍हें आगामी श्रीलंका और ऑस्‍ट्रेलिया सीरीज में भी जगह नहीं दी गई.

पढ़ें:- NZ दौरे पर इंडिया ए टीम में पृथ्‍वी को टेस्‍ट, हार्दिक को वनडे टीम में मिली जगह

मुख्‍य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने वेबसाइट ईएसपीएन से कहा “मेरा अपना अंदेशा है कि मार्च-अप्रैल से पहले दीपक चाहर पूरी तरह से ठीक नहीं हो पाएंगे. उसकी पीठ की चोट काफी गंभीर है. तकनीकी तौर पर भारतीय टीम के फीजियो नितिन पटेल ही इस बारे में सही जानकारी दे पाएंगे. फिलहाल के लिए हमें पता है कि उनकी चोट गंभीर है.”

बीसीसीआई की तरफ से दिए गए बयान में कहा गया, “दीपक चाहर को लोअर बैक फ्रेक्‍चर के लिए स्‍कैन से गुजरना पड़ा. उन्‍होंने राष्‍ट्रीय क्रिकेट अकादमी में रिहैब की प्रक्रिया शुरू कर दी है. वो मैच खेलने के लिए अप्रैल तक ही फिट हो पाएंगे.”

पढ़ें:- BCCI उपाध्यक्ष का PCB प्रमुख को करारा जवाब, बोले-आपको पहले…

एमएसके प्रसाद ने कहा, “हमारे पास खेल के सभी फॉर्मेट को मिलाकर तेज गेंदबाजी में काफी अच्‍छे बैकअप ऑप्‍शन हैं. ऐसे में भारतीय क्रिकेट को अगले छह-सात साल तक ज्‍यादा परेशान होने की जरूरत नहीं है.”