भारत के खिलाफ घरेलू टेस्ट सीरीज में मिली करारी हार के बाद पूर्व इंग्लिश स्पिनर ग्रीम स्वान (Graeme Swann) ने कहा है कि ऑस्ट्रेलिया अब दुनिया का सर्वश्रेष्ठ टीम नहीं रही। साथ ही पूर्व क्रिकेटर ने इंग्लैंड टीम को भारत के दौरे पर होने वाली चार मैचों की टेस्ट सीरीज पर धयान देने के लिए कहा है, चूंकि टीम इंडिया को हराना अब एशेज जीतने से बड़ी उपलब्धि मानी जाएगी।Also Read - पांचवें एशेज टेस्ट में शून्य पर रन आउट हुए रोरी बर्न्स को रिकी पॉन्टिंग ने लगाई फटकार

स्वान ने ‘द सन’ से कहा, ‘‘इंग्लैंड हमेशा कहता है कि एशेज सीरीज होने वाली है। ऑस्ट्रेलिया अब दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीम नहीं है। कभी वे होते थे, काफी आगे…. अब ऐसा नहीं है लेकिन हमारे अंदर इसे लेकर जुनून है। हमें एशेज सीरीज से आगे बढ़ना होगा। मुझे लगता है कि अभी भारत को भारत में हराना इससे कहीं बड़ी उपलब्धि है। 2012 में उन पर हमारी जीत के बाद से वे भारत में लगभग अजेय हैं।’’ Also Read - रिटायरमेंट लेने के बाद जेम्स एंडरसन को इंग्लैंड टीम का गेंदबाजी कोच बनाए ECB: एलेस्टेयर कुक

स्वान ने कहा कि अगर इंग्लैंड दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीम बनना चाहता है तो उन्हें सिर्फ ऑस्ट्रेलिया में ऑस्ट्रेलिया को हराने का प्रयास करने की चाहत से आगे बढ़ना होगा। एशेज सीरीज इस साल ऑस्ट्रेलिया में दिसंबर से खेली जाएगी। Also Read - Ashes 2021-22: पांचवें एशेज टेस्ट से बाहर हुए जॉश हेजलवुड, न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज में कर सकते हैं वापसी

इंग्लैंड के लिए 2008 से 2013 के बीच 60 टेस्ट में 255 विकेट चटकाने वाले 41 साल के पूर्व ऑफ स्पिनर स्वान ने इंग्लैंड के खिलाड़ियों को पुरानी गलतियों से सीखने और केविन पीटरसन की तरह स्पिन का सामना करने को कहा जिसकी बदौलत इंग्लैंड 2012 में भारत में टेस्ट श्रृंखला जीतने में सफल रहा था। स्वान ने कहा कि पूर्व कप्तान पीटरसन ने स्पिन के खिलाफ इंग्लैंड के खेलने के तरीके को बदल दिया था।

उन्होंने कहा, ‘‘लोग ऐसा क्यों नहीं कह रहे कि ये मौका है कि स्पिन खेलने वाले अच्छे खिलाड़ियों के साथ इस टीम का सामना किया जाए, कदमों का इस्तेमाल करो, हम जिस तरह स्पिन का सामना करते हैं उसे पूरी तरह बदल दो और इसके बाद हम भारत को हरा सकते हैं। हम भारत को तब तक नहीं हरा सकते जब तक कि स्पिनर विकेट ना चटकाएं और इसके बाद किसी को उस तरह बल्लेबाजी करनी होगी जैसी केविन पीटरसन ने की थी।’’