नई दिल्ली : दिल्ली कैपिटल्स ने राजस्थान रॉयल्स को 6 विकेट से हराया. आईपीएल 2019 का 40वां मुकाबला जयपुर में खेला गया. राजस्थान ने पहले बैटिंग करते हुए 192 रन का लक्ष्य दिया. इसके जवाब में दिल्ली ने 4 विकेट खोकर मुकाबला अपने नाम कर लिया. दिल्ली के लिए ऋषभ पंत ने धमाकेदार पारी खेली. जबकि शिखर धवन ने अर्धशतक लगाया. वहीं इससे पहले राजस्थान के लिए अजिंक्य रहाणे ने शतक जड़ा. रहाणे के साथ-साथ स्टीव स्मिथ ने भी अच्छी बैटिंग की. बॉलिंग में कगीसो रबाडा और ईशांत शर्मा ने अच्छा प्रदर्शन किया. Also Read - Tim Paine ने टीम इंडिया पर लगाया बड़ा आरोप, बोले- उनके खेल नहीं बल्कि इस 'करतूत' से हारे

राजस्थान के दिए लक्ष्य का पीछा करते हुए दिल्ली ने 19.2 ओवर में 4 विेकेट खोकर मुकाबला जीत लिया. इस दौरान ऋषभ पंत ने धमाकेदार प्रदर्शन किया. पंत ने 36 गेंदों का सामना करते हुए नाबाद 78 रन बनाए. उन्होंने आखिरी गेंद पर छक्का जड़कर टीम को जीत दिला दी. पंत ने अपनी पारी में 4 छक्के और 6 चौके जड़े. जबकि इससे पहले शिखर धवन ने शानदार प्रदर्शन किया. धवन ने 27 गेंदों का सामना करते हुए 54 रन बनाए. धवन ने 8 चौके और 2 छक्के लगाए. पृथ्वी शॉ ने 42 रन का योगदान दिया. इसके अलावा कप्तान श्रेयस अय्यर 4 रन बनाकर आउट हुए. Also Read - 4, 4, 4, 4, 4, 4: Prithvi Shaw ने ओवर की सभी गेंदों पर चौका जड़ बनाया रिकॉर्ड, लगाया सीजन का सबसे तेज अर्धशतक

टॉस हारकर पहले बैटिंग करने उतरी राजस्थान रॉयल्स ने 20 ओवर में 6 विकेट खोकर 191 रन बनाए. ओपनर अजिंक्य रहाणे शानदार शतक जड़ा. उन्होंने 63 गेंदों का सामना करते हुए नाबाद 105 रन बनाए. इस दौरान रहाणे ने 11 चौके और 3 छक्के जड़े. जबकि स्टीव स्मिथ ने 32 गेंदों का सामना करते हुए 50 रन बनाए. स्मिथ ने 8 चौके लगाए. संजू सैमसन और एस्टन टर्नर बिना खाता खोले पवेलियन लौट गए. स्टुअर्ट बिन्नी ने 19 रन और बेन स्टोक्स ने 8 रन का योगदान दिया. Also Read - COVID19: Rajasthan CM अशोक गहलोत कोरोना वायरस से पॉजिटिव निकले

रहाणे के तूफानी शतक से टूटा जयपुर का रिकॉर्ड, सहवाग की बराबरी पर पहुंचे अजिंक्य

दिल्ली कैपिटल्स के लिए कगीसो रबाडा ने 2 विेकेट झटके. उन्होंने 4 ओवर में 37 रन दिए. जबकि ईशांत शर्मा ने 4 ओवर में 29 रन देकर एक विकेट लिया. अक्षर पटेल ने 4 ओवर में 39 रन देकर एक विकेट लिया. वहीं क्रिस मोरिस ने 4 ओवर में 41 रन देकर एक विकेट लिया. अमित मिश्रा को एक भी सफलता हाथ नहीं लगी.